पूर्व भारतीय कप्तान कपिल देव ने बड़ा बयान दिया है.

विराट कोहली की अगुआई वाली भारतीय टीम को विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में न्यूजीलैंड के हाथों 8 विकेट से हार का सामना करना पड़ा। डब्ल्यूटीसी फाइनल का मुकाबला हारने के बाद टीम इंडिया की बहुत किरकिरी हो रही है। इतना ही नहीं टीम के खराब प्रदर्शन को देखते हुए विराट कोहली की कप्तानी पर भी सवाल उठाए जा रहे हैं। हालांकि, कई दिग्गजों ने टीम इंडिया का समर्थन किया है और अब इस सूची में पूर्व भारतीय कप्तान कपिल देव का नाम भी जुड़ गया है। उन्होंने टीम के बचाव करते हुए आलोचकों पर निशाना साधा है।

विश्व कप विजेता कप्तान ने कहा कि किसी भी टूर्नामेंट के फाइनल या सेमीफाइनल में जगह बनाना खुद में बड़ी कामयाबी होती है। उन्होंने कहा कि भारतीय टीम ने कई बार ऐसी मुश्किल परिस्थितियों में मुकाबले जीते हैं। ऐसे में एक मैच के आधार पर उनपर सवाल नहीं खड़े किए जा सकते हैं।

62 साल के पूर्व भारतीय कप्तान ने स्पोर्ट्स यारी यूट्यूब चैनल पर बात करते हुए कहा, “मुझे एक बात बताएं कि भारतीय टीम हर बार सेमीफाइनल या फाइनल में पहुंच रही है। क्या यह अपने आप में एक उपलब्धि नहीं है? हम बहुत जल्दी आलोचना करने लग जाते हैं। आप हर बार ट्रॉफी नहीं जीत सकते। आप देखिए कि टीम कितना अच्छा खेली। अगर टीम यहां एक मैच हार गई या विश्व कप सेमीफाइनल नहीं जीत पाई तो क्या इसका मतलब यह है कि वे दबाव के आगे झुक रहे हैं? नहीं, ऐसा नहीं है।”

यह भी पढ़ें | विराट कोहली के बचाव में उतरे पाक क्रिकेटर कामरान अकमल, दिया दिल जीतने वाला बयान

कपिल देव ने आगे कहा, “उनका (न्यूजीलैंड) एक बेहतर दिन था और उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया। हम इसे बहुत आलोचनात्मक तरीके से देखते हैं। एक खराब प्रदर्शन होते ही मीडिया इसे सौ बार दिखाता है और कहा जाता है कि यह लोग दबाव नहीं झेल सकते हैं। ऐसा नहीं है। हमने दबाव में बहुत सारे मुकाबले जीते हैं।”

हालांकि, भारत डब्ल्यूटीसी फाइनल हार गई, लेकिन विराट कोहली के नेतृत्व वाली टीम इंडिया मेजबान इंग्लैंड के खिलाफ पांच मुकाबलों की आगामी टेस्ट सीरीज खेलने के लिए पूरी तरह से तैयार है। सीरीज का पहला मैच 4 अगस्त से नॉटिंघम में खेला जाएगा।