भुवनेश्वर कुमार और शोएब अख्तर.

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व दिग्गज पेसर इरफ़ान पठान अपनी स्विंग गेंदबाजी के लिए जाने जाते हैं. पठान अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद अब कमेंटेटर की भूमिका निभा रहे हैं. हाल ही में उन्होंने बताया है कि स्पीड और स्विंग गेंदबाजी में क्या फर्क है. इसके लिए उन्होंने पाकिस्तान के पूर्व तूफानी गेंदबाज शोएब अख्तर और टीम इंडिया के दिग्गज पेसर भुवनेश्वर कुमार का उदाहरण लिया है.

बाएं हाथ के तेज गेंदबाज ने कहा है कि किसी भी एक गेंदबाज के लिए गेंद को दोनों तरफ स्विंग करना बेहद मुश्किल काम है. पठान के मुताबिक, एक गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार से सीधा शोएब अख्तर नहीं बन सकता है.

इरफ़ान पठान ने कहा, “स्विंग और स्पीड किसी भी तेज गेंदबाज के प्रमुख हथियार हैं और इसके काफी फायदे हैं, लेकिन किसी भी बल्लेबाज के लिए स्पीड की बजाय स्विंग गेंदबाजी को खेलना मुश्किल होता है.”

उन्होंने आगे कहा, “भुवनेश्वर कुमार के लिए दोनों तरफ स्विंग कराने के बाद शोएब अख्तर, जैसा बनना बेहद मुश्किल काम होगा, जो दुनिया में अपने समय के सबसे तेज गेंदबाज माने जाते थे. एक स्विंग बॉलर के लिए फास्ट बॉलर बनना घाटे का सौदा हो सकता है.”

याद हो कि पठान ने साल 2006 में पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट मैच में शानदार हैट्रिक चटकाई थी. इसको लेकर इरफ़ान ने कहा कि यह हैट्रिक उन्होंने स्विंग गेंदबाजी के दम पर ही हासिल की थी. पूर्व ऑलराउंडर ने भारत के लिए 29 टेस्ट, 120 एकदिवसीय और 24 टी20 अंतर्राष्ट्रीय मुकाबले खेले हैं.

Leave a comment