इस सीजन कई भारतीय खिलाड़ियों के पास टी20 टीम में अपना दावा मजबूत करने का अच्छा मौका था, लेकिन वे इस अवसर को सफल बनाने में असफल रहे।

इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन के बीच में सस्पेंड होने से फैंस बहुत निराश हो गए, क्योंकि काफी लंबे वक्त के बाद भारत में यह टूर्नामेंट खेला जा रहा था और इस मुश्किल खड़ी में ये दर्शकों के मनोरंजन का साधन था। 9 अप्रैल से शुरू हुए इस सीजन में केवल 29 मुकाबले ही खेले गए और उसके बाद खिलाड़ियों और कुछ सपोर्ट स्टाफ के कोविड-19 पॉजिटिव होने के बाद बीसीसीआई ने लीग को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया। आईपीएल के रद्द होने से टी20 विश्व कप के आयोजन पर भी सवाल खड़े हो गए हैं, क्योंकि इस टूर्नामेंट की मेजबानी भारत ने करनी है। अगर हालातों में सुधार नहीं होता है तो फिर यह इवेंट भारत की जगह किसी और देश में खेला जाएगा।

इस सीजन में कई भारतीय खिलाड़ियों के पास टी20 टीम में अपना दावा मजबूत करने का अच्छा मौका था, लेकिन वे इस अवसर को सफल बनाने में कामयाब नहीं रहे। आज हम आपको इस आर्टिकल में ऐसे 8 भारतीय खिलाड़ियों के बारे में बताएंगे, जिनका प्रदर्शन आईपीएल में कुछ खास अच्छा नहीं रहा और ऐसे में उनकी टी20 वर्ल्ड कप में खेलने की उम्मीदें शायद ही हैं।

  1. ईशान किशन

इंग्लैंड के विरुद्ध टीम इंडिया के लिए टी20 प्रारूप में डेब्यू करने वाले मुंबई इंडियंस के धाकड़ बल्लेबाज ईशान किशन का आईपीएल 2021 में कुछ खास प्रदर्शन नहीं रहा। उन्होंने इस सीजन 5 मुकाबलों में 14.60 के खराब औसत से केवल 73 रन ही बनाए। 22 साल के विकेटकीपर बल्लेबाज के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद उन्हें कप्तान रोहित शर्मा ने अंतिम ग्यारह से निकाल दिया गया था। ऐसे में आगामी टी20 वर्ल्ड कप में उनके खेलने की संभावना भी कम होती हुई नज़र आ रही हैं, क्योंकि आईपीएल 2021 में ऋषभ पंत, केएल राहुल और संजू सैमसन जैसे इन खिलाड़ियों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है।

2. सूर्यकुमार यादव

इस लिस्ट में मुंबई इंडियंस के दूसरे विस्फोटक बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव का नाम भी शामिल है। आईपीएल 2021 के शुरूआती मुकाबलों में उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया था, लेकिन जैसे-जैसे टूर्नामेंट आगे बढ़ता गया उनका बल्ला खामोश हो गया। उन्हें शुरुआत अच्छी मिली थी, लेकिन वे अपनी पारी को बड़ी पारी में तब्दील करने में नाकाम रहे और खराब शॉट खेलकर आउट हो गए।

30 साल के दाएं हाथ के बल्लेबाज ने आईपीएल के 14वें सीजन में 7 मुकाबले खेले और 24.71 के औसत से मात्र 173 रन बनाए। ऐसे में सूर्यकुमार यादव की टी20 विश्व कप में खेलने की उम्मीद शायद ही पूरा हो सके। भले ही इन्हें स्क्वॉड में शामिल कर लिया जाए मगर उन्हें अंतिम ग्यारह में मौका मिलेगा यह कहना मुश्किल होगा।

3. मनीष पांडे

टीम इंडिया के मध्यक्रम के बल्लेबाज मनीष पांडे को हाल ही में भारतीय टीम से ड्रॉप कर दिया गया था। ऐसे में पांडे के पास खुद को साबित करने का एक मौका था और वो कि वे आईपीएल 2021 में शानदार प्रदर्शन करते, लेकिन वे टूर्नामेंट में कुछ ज्यादा अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए। 31 हाल के दाएं हाथ के बल्लेबाज आईपीएल में सनराइजर्स हैदराबाद की टीम के लिए खेलते हैं।

आईपीएल के 14वें सीजन में मनीष पांडे ने 5 मुकाबलों में 193 रन बनाए। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट कुछ खास नहीं था, जिसके चलते उनकी जमकर आलोचना भी हुई थी। ऐसा कहा जा रहा है कि टीम इंडिया में टी20 विश्व कप के लिए उनकी वापसी की उम्मीदें खत्म होती नज़र आ रही हैं। इसके पीछे उनकी धीमी बल्लेबाजी एक मुख्य कारण है।

4. शार्दुल ठाकुर

टीम इंडिया के तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर का नाम हरफनमौला खिलाड़ियों की लिस्ट में गिना जाने लग गया है। हाल ही में उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में अपनी शानदार बल्लेबाजी से सबको प्रभावित किया है और खुद को साबित भी किया है। शार्दुल ने आईपीएल 2021 से पहले इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज में जबरदस्त प्रदर्शन किया था। 29 साल के पेसर के इस कमाल के प्रदर्शन को देखते हुए ऐसा कहा जा रहा था कि उन्हें बतौर ऑलराउंडर के रूप में टीम में शामिल किया जा सकता है, लेकिन आईपीएल 2021 में खेले गए कुछ मुकाबलों में वे संघर्ष करते दिखाई दिए।

चेन्नई सुपर किंग्स के मुख्य सीमर में से एक शार्दुल ठाकुर ने 7 मुकाबलों में 10 से ज्यादा इकॉनमी रेट से केवल 5 विकेट चटकाए। उन्होंने कई अहम मुकाबलों में बेहद निराशाजनक गेंदबाजी की, जिसकी वजह से टीम को नुकसान पहुंचा। ऐसे में शार्दुल के खराब प्रदर्शन ने आगामी टी20 विश्व कप में उनकी खेलने की संभावना कम कर दी है।

5. वॉशिंगटन सुंदर

भारतीय टीम के युवा ऑलराउंडर वॉशिंगटन सुंदर नई गेंद से विकेट हासिल करने और बल्ले से रन बनाते हुए दिखाई दिए थे, लेकिन आईपीएल 2021 में सुंदर अपना यह परफॉर्मेंस बरकरार रखने में असफल रहे। आईपीएल के दौरान कप्तान विराट कोहली ने भी उनसे ज्यादा गेंदबाजी नहीं करवाई थी और सुंदर बल्लेबाजी में भी कुछ ज्यादा कमाल नहीं कर पाए थे।

21 साल के बाएं हाथ के बल्लेबाज ने इस सीजन 6 मैच खेले, जिसमें उन्होंने केवल 3 विकेट चटकाए और मात्र 31 रन बनाए। वॉशिंगटन सुंदर के इस खराब प्रदर्शन को देखते हुए ऐसा कहा जा सकता है कि शायद ही उन्हें टी20 विश्व कप में मौका मिलेगा।

6. राहुल तेवतिया

घरेलू क्रिकेट में हरयाणा की तरफ से खेलने वाले 27 साल के हरफनमौला खिलाड़ी राहुल तेवतिया ने आईपीएल 2020 में शानदार प्रदर्शन किया था और क्रिकेट पंडितों और फैंस को प्रभावित किया था। टी20 प्रारूप में उनके कमाल के प्रदर्शन को देखते हुए इंग्लैंड के विरुद्ध टी20 सीरीज के लिए उनका चयन हुआ था, लेकिन वे फिटनेस टेस्ट में फेल हो गए थे, जिसके बाद उन्हें डेब्यू करने का मौका नहीं मिला।

अगर राहुल तेवतिया आईपीएल 2021 में अच्छा प्रदर्शन करते तो उन्हें दोबारा मौका मिलने की उम्मीद थी, लेकिन इस सीजन उनका बल्ला शांत रहा। उन्होंने 7 मुकाबलों में महज 86 रन बनाए, जबकि 2 विकेट लिए। अब उनके इस निराशाजनक प्रदर्शन को देखते हुए कहा जा सकता है कि उनका टी20 वर्ल्ड कप के लिए चयन होना मुश्किल हो सकता है।

7. भुवनेश्वर कुमार

टीम इंडिया के पेसर भुवनेश्वर कुमार ने आईपीएल 2021 से पहले इंग्लैंड के विरुद्ध सीमित ओवर्स की सीरीज में काफी लंबे समय के बाद टीम में वापसी करते हुए अच्छा प्रदर्शन किया था। हालांकि, उनकी लय आईपीएल के 14वें सीजन में आते-आते कुछ बिगड़ गई, जिसके चलते वे कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए। भुवी ने 5 मुकाबलों में 9 से अधिक इकॉनमी रेट से केवल 3 विकेट लिए।

31 साल के दाएं हाथ के बल्लेबाज भारतीय टीम के प्रमुख गेंदबाजों में से एक हैं। अगर वे फिट रहते हैं तो उन्हें स्क्वॉड में जरूर लिया जाएगा, लेकिन उन्हें प्लेइंग

इलेवन में जगह मिलती है या नहीं यह एक बड़ा सवाल
रहेगा।

8. युजवेंद्र चहल

आईपीएल टीम आरसीबी के सबसे सफल गेंदबाज युजवेंद्र चहल का इस सीजन कुछ अच्छा प्रदर्शन नहीं रहा। चहल ने आईपीएल से पहले टीम इंडिया के लिए भी निराशाजनक प्रदर्शन किया था और ऐसा ही कुछ आईपीएल में देखने को मिला। चेन्नई जैसी पिच जो कि स्पिनर के बहुत अनुकूल है वे वहां पर भी अपना जलवा दिखाने में असफल रहे। इस दौरान चहल ने मध्य ओवर्स में खूब रन लुटाए। उन्होंने 7 मुकाबलों में 8 से अधिक की इकॉनमी रेट से सिर्फ 4 विकेट हासिल किए। ऐसे में उनकी जगह टी20 वर्ल्ड कप में मुश्किल नज़र आ रही है।

9. नवदीप सैनी

टीम इंडिया के तेज गेंदबाज नवदीप सैनी का पिछला कुछ समय अच्छा नहीं गुजरा है। सैनी तीनों प्रारूपों की टीम्स में थे, लेकिन उन्हें ज्यादा अवसर नहीं मिले। इतना ही नहीं उन्हें हाल ही में टीम से ड्रॉप भी कर दिया गया था। वहीं, आईपीएल 2021 में सैनी खुद को साबित करने में नाकाम रहे। वे आरसीबी की तरफ से एकमात्र मैच खेले थे और 2 ओवर में 27 रन दिए थे और एक भी विकेट नहीं लिया था। ऐसे में सैनी के लिए टी20 वर्ल्ड कप में जगह बनानी मुश्किल नज़र आ रही है।

Leave a comment