moeen ali father react on Taslima Nasreen's tweet
तस्लीमा नसरीन ने मंगलवार को इंग्लैंड के दिग्गज हरफनमौला खिलाड़ी मोइन अली पर एक विवादित बयान दिया था।

बांग्लादेश की लेखिका तस्लीमा नसरीन ने मंगलवार को इंग्लैंड के दिग्गज हरफनमौला खिलाड़ी मोइन अली पर एक विवादित बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि अगर मोइन क्रिकेटर नहीं बनते तो वे आईएसआईएस में शामिल हो जाते। तस्लीमा ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर एक ट्वीट में लिखा था, “अगर मोइन अली क्रिकेट को अपना करियर नहीं चुनते तो वे आईएसआईएस जॉइन करने के लिए सीरिया चले जाते।”

58 साल की लेखिका ने बाद में मामले को बढ़ते हुए देखा, जिसपर उन्होंने सफाई देते हुए कहा कि उनका यह ट्वीट सिर्फ एक व्यंग था। वे खुद भी कट्टरपंथ के खिलाफ हैं। वहीं, मोइन अली के पिता मुनीर अली भी तस्लीमा के इस बयान पर भड़के हैं।

मोइन अली के पिता मुनीर अली ने अंग्रेजी अख़बार इंडियन एक्सप्रेस के लिए एक कॉलम में लिखा, “अपने दूसरे ट्वीट में, जहां उन्होंने अपने पहले ट्वीट को व्यंग्य के रूप में बताया है और वे यह भी कह रहीं हैं कि वे खुद कट्टरपंथ के खिलाफ हैं। अगर तस्‍लीमा नसरीन आईने में अपना चेहरा देखेंगी तो उन्‍हें खुद ही पता चल जाएगा कि उन्‍होंने क्‍या ट्वीट किया था और कट्टरपंथ क्‍या होता है। ये मुसलमानों के खिलाफ व्‍यर्थ की धारणा हैं, जिससे पता चलता है कि वे इस्‍लामोफोबिया से ग्रस्‍त हैं। ऐसा व्यक्ति, जिसके अंदर आत्‍मसम्‍मान की कमी और, जो दूसरों का सम्‍मान नहीं करता हो वही ऐसा कर सकता है।”

उन्होंने आगे लिखा, “मुझे बहुत गुस्सा आ रहा है, लेकिन मैं जानता हूं कि मुझे अपना गुस्सा कैसे काबू में रखना है। अगर मुझे कभी तस्‍लीमा नसरीन से मिलने का मौका मिला तो मैं उनके चेहरे पर ही उन्‍हें बताऊंगा कि मैं उनके बारे में क्‍या सोचता हूं। अभी के लिए मैं बस उन्‍हें इतना ही कहूंगा कि डिक्‍शनरी खोलें और जानें कि सार्केज्म (व्‍यंग) का मतलब क्‍या होता है। ये उनकी सोच का विषय नहीं है। आप ऐसे शख्‍स के खिलाफ जहर उगल रही हैं, जिसे आप जानती तक नहीं हैं और बाद में इसे व्‍यंग का नाम दे रही हैं।”

Leave a comment

Cancel reply