आईपीएल के सस्पेंड होने से क्रिकेट फैंस सहित कई दिग्गज खिलाड़ियों को दुख पहुंचा है।

मंगलवार को आईपीएल वर्निंग काउंसिल और भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने एक आपातकालीन बैठक बुलाकर इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन को निलंबित करने का फैसला लिया। आईपीएल के सस्पेंड होने से क्रिकेट फैंस सहित कई दिग्गज खिलाड़ियों को दुख पहुंचा है। दरअसल, आईपीएल में कोरोना के मामले भी देखने को मिले हैं। कई बड़ी टीम के दिग्गज खिलाड़ियों को संक्रमित हुआ है और इसी वजह से टूर्नामेंट को निलंबित करना पड़ा है। इंग्लैंड के पूर्व दिग्गज क्रिकेटर माइकल वॉन ने भी ट्वीट किया है।

वॉन ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर ट्वीट में लिखा, “आईपीएल को स्‍थगित करने का फैसला समझदारी भरा लगा। अब बबल के अंदर मामले आने लगे तो उनके पास कोई विकल्‍प नहीं बचा था। उम्‍मीद है कि भारत में सभी लोग सुरक्षित रहें और विदेशी खिलाड़‍ियों को अपने परिवार में पहुंचने का रास्‍ता मिले।”

कुछ दिन पहले ही वॉन ने टूर्नामेंट में हिस्‍सा ले रहे इंग्‍लैंड और ऑस्‍ट्रेलियाई खिलाड़‍ियों पर तंज कसा था। उन्होंने हैरानी जताते हुए कहा था कि इन दोनों देशों के खिलाड़‍ियों को आईपीएल में खेलने की अनुमति मिल रही है, जबक‍ि दक्षिण अफ्रीका जाने का फैसला दोनों ने नहीं किया। इसके अलावा माइकल वॉन ने यह भी कहा था कि आईपीएल को जारी रखना चाहिए, क्‍योंकि यह मुश्किल समय में लोगों के चेहरे पर मुस्‍कान लाने का काम कर रहा है।

46 साल के पूर्व इंग्लिश क्रिकेटर ने ट्वीट में लिखा था, “मेरे ख्‍याल में आईपीएल जारी रहना चाहिए। यह जो कई चेहरों पर रोजाना शाम आनंद लाता है, वो महत्‍वपूर्ण है। मगर मुझे यह सोचकर थोड़ा मुश्किल लग रहा है कि इंग्‍लैंड और ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाड़‍ियों ने दक्षिण अफ्रीका से अपना नाम वापस लिया, लेकिन दोनों देशों के खिलाड़‍ियों को भारत में खेलने की अनुमति है।”

यह भी पढ़ें | IPL 2021: BCCI ने दिल्ली कैपिटल्स की पूरी टीम को दिया होम आइसोलेट होने का आदेश

बहरहाल, आईपीएल 2021 को अनिश्चितकालीन समय के लिए स्‍थगित करने के फैसले पर बीसीसीआई ने अपने बयान में कहा, “आईपीएल गवर्निंग काउंसिल और बीसीसीआई ने आपातकाल बैठक करके आईपीएल 2021 सीजन को तत्‍काल प्रभाव से स्‍थगित करने का सर्वसम्मती से फैसला लिया है। बीसीसीआई खिलाड़‍ियों, सपोर्ट स्‍टाफ और आईपीएल के आयोजन में हिस्‍सा ले रहे किसी अन्‍य भागीदार के स्‍वास्‍थ्‍य व सुरक्षा से कोई समझौता नहीं करना चाहता है। यह फैसला लोगों के स्‍वास्‍थ्‍य, और सुरक्षा को ध्‍यान में रखते हुए लिया गया है।”