पृथ्वी शॉ

भारतीय टेस्ट टीम के सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ साल 2020-21 के ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर बुरी तरह फ्लॅाप रहे थे, जिसके बाद उन्हें ड्रॉप कर दिया गया था और उनकी जगह शुभमन गिल को मौका दिया था। बता दें कि पृथ्वी ने अपनी तकनीक पर काफी काम किया और मैदान पर शानदार वापसी की है। उन्होंने विजय हजारे ट्राफी और आईपीएल 2021 में तूफानी बल्लेबाजी करते हुए रनों का अम्बार लगा दिया। अब एक बार फिर से उन्हें इंग्लैंड में वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप फ़ाइनल व 5 टेस्ट मुकाबलों का दौरा करने वाली भारतीय टीम में दोबारा मौका मिल सकता है।

टीम इंडिया के पूर्व खिलाड़ी अजय जडेजा ने पृथ्वी शॉ के शानदार प्रदर्शन की जमकर तारीफ की है। उन्होंने क्रिकबज से बातचीत करते हुए कहा, “जैसे कंप्यूटर में वायरस होता है और उसे हटा दिया जाता है। ठीक उसी तरह पृथ्वी की बल्लेबाजी से अब वायरस जा चुका है। पिछले साल उनकी बल्लेबाजी तकनीक या दिमाग में एक वायरस आ गया था। शॉ एक असाधारण खिलाड़ी हैं, जो अपनी कमजोरियों पर काम करके इतनी शानदार वापसी करता है और सबको पछाड़ देता है।”

21 साल के दाएं हाथ के बल्लेबाज ने आईपीएल के 14वें सीजन में दिल्ली कैपिटल्स की तरफ से ओपनिंग करते हुए धमाकेदार बल्लेबाजी की। कोरोना महामारी के चलते आईपीएल लीग रद्द होने से पहले शॉ ने 8 मुकाबलों में दिल्ली की तरफ से 308 रन बनाए। इससे पहले उन्होंने विजय हजारे ट्रॉफी में 800 रन बनाए और ऐसा करने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज बने।

गौरतलब है कि पिछले साल पृथ्वी शॉ का बल्ला पूरी तरह से फ्लॉप रहा था। उन्होंने आईपीएल 2020 में 14 मुकाबलों में मात्र 228 रन बनाए थे। ऐसे में देखना दिलचस्प होगा कि अगर शॉ दोबारा टेस्ट टीम इंडिया में जगह बनाते हैं तो किस तरह खुद को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर साबित करते हैं।

Leave a comment