डब्ल्यूटीसी फाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ हार के बाद इंज़माम उल हक ने विराट सेना का समर्थन किया है.

पाकिस्तानी टीम के पूर्व कप्तान इंज़माम उल हक ने आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि खिताबी मुकाबले में पहुंचने वाली दोनों टीम्स को 1-1 मैच आयोजित करने का मौका मिलना चाहिए. इंज़माम का मानना है कि इससे यह टूर्नामेंट अधिक संतुलित हो जाएगा. मालूम हो कि इंग्लैंड में खेले गए डब्ल्यूटीसी 2021 के फाइनल में न्यूजीलैंड ने भारत को 8 विकेट से पराजित किया था.

इंज़माम उल हक ने कहा, “मेरी सलाह है कि आप दो टेस्ट मैच खेलें. एक मैच न्यूजीलैंड- या जो भी चैंपियन हो वहां खेलें और दूसरा इंडिया में. इस तरह नतीजा अधिक जायज होगा. अगर यह वर्ल्ड कप की तरह होता, जहां सारे मैच एक ही देश में होते हैं, तो अलग बात होती. तो मेरी राय में भविष्य में WTC के फाइनल होम व अवे आधार पर होना चाहिए. फाइनल में पहुंचने वाली दोनों टीमों को मेजबानी का मौका मिलना चाहिए.”

उन्होंने आगे कहा, “एक टीम उपमहाद्वीप की है और आप उसे इस तरह की परिस्थितियों में खेलने को कह रहे हैं. हार-जीत खेल का हिस्सा है, लेकिन आपको कोई मुकाबला देखने को नहीं मिलेगा, क्योंकि आप दोनों में से एक टीम को फायदा पहुंचा रहे हैं.”

दाएं हाथ के दिग्गज बल्लेबाज ने कहा, “न्यूजीलैंड, इंग्लैंड, दक्षिण अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया में परिस्थितियां लगभग एक जैसी हैं, जब ये टीमें उपमहाद्वीप में खेलने आती हैं तो परिस्थितियां अलग होती हैं और कुछ ऐसा ही यहां की टीमों के साथ होता है, आप कह सकते हैं कि मैच इंग्लैंड में खेला गया था, जो न्यूजीलैंड का घरेलू मैदान नहीं है, लेकिन ऐसे में आप भारतीय टीम को पाकिस्तान, श्रीलंका और बांग्लादेश में खेलने को कहें तो परिस्थितियां एक जैसी ही रहेंगी.”

गौरतलब है कि डब्ल्यूटीसी फाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ हार के बाद इंज़माम उल हक ने विराट सेना का समर्थन किया है. पाकिस्तानी खिलाड़ी ने इशारों-इशारों में आईसीसी से गुहार लगाई है कि उन्हें डब्ल्यूटीसी के फाइनल में बदलाव करने पर सोच विचार करना चाहिए, जिससे दोनों टीम्स के साथ इंसाफ हो सके.

Leave a comment