विराट कोहली और सरफराज अहमद.

भारत और पाकिस्तान के बीच पिछले कुछ सालों से सब कुछ ठीक-ठाक नहीं चल रहा है. दोनों देशों के बीच लगभग एक दशक से द्विपक्षीय सीरीज तक नहीं खेली गई है. हालांकि, भारत-पाकिस्तान की टीम्स आईसीसी के मेजर टूर्नामेंट्स में एक दूसरे से टकरा जाती हैं. फैंस चाहते हैं कि इन दोनों मुल्कों के बीच फिर से क्रिकेट रिश्ते बेहतर हों और उन्हें इंडो-पाक सीरीज का रोमांच देखने को मिले. ऐसे में पाकिस्तानी टीम के पूर्व कप्तान इंज़माम उल हक ने पुराने दिनों को याद करते हुए कहा है कि एक समय था, जब भारत-पाकिस्तान की सीरीज को एशेज से ज्यादा फोलो किया जाता था.

दाएं हाथ के पूर्व बल्लेबाज ने कहा, “इंडिया-पाकिस्तान की सीरीज को एशेज से ज्यादा फॉलो किया जाता था. एशेज के हर एक पल को लोग काफी एंजॉय करते हैं. गेम और खिलाड़ियों के नजरिए से, यह महत्वपूर्ण है कि भारत-पाकिस्तान के बीच में एशिया कप और द्विपक्षीय सीरीज खेली जानी चाहिए.”

उन्होंने आगे कहा, “हर तरह का कॉम्पिटिशन जरूरी है. हमारे समय में एशिया कप में टॉप टीमें भिड़ती थीं, जितना ज्यादा आप उच्च स्तरीय क्रिकेट खेलते हैं, उतना ही आपकी स्किल्स विकसित होते हैं.”

इंजी ने कहा, “मिसाल के तौर पर अगर भारत और पाकिस्तान के बीच में क्रिकेट खेली जाएगी, तो प्लेयर काफी उत्सुक होंगे और अपना बेस्ट देने की कोशिश करेंगे, क्योंकि वह इसकी अहमियत को समझते हैं. इससे सिर्फ खिलाड़ी को आगे बढ़ने में मदद नहीं मिलेगी, बल्कि इससे प्रशंसक भी उनकी सराहना करेंगे.”

बता दें कि हाल ही में पाकिस्तानी ऊर्दू अखबार डेली जंग की रिपोर्ट में दावा किया गया था कि भारत-पाकिस्तान इस साल टी20 मैचों की एक छोटी सी सीरीज खेल सकते हैं. पाकिस्तान अपने पड़ोसी देश भारत के साथ सीरीज खेलने पर विचार कर रहा है. पाकिस्तान के उच्चपदस्थ सूत्रों की मानें तो दोनों टीम्स केवल तीन ही मुकाबलों की टी20 अंतर्राष्ट्रीय सीरीज में भाग ले सकती हैं और इसके लिए 6 दिन की विंडो की तलाश की जा रही है, क्योंकि भारतीय टीम का कार्यक्रम काफी व्यस्त है.

Leave a comment