ENG v IND: शास्त्री और कोहली ने फैलाया कोरोना! बुक लौन्चिंग के इवेंट में पहुंचे थे लंदन

भारतीय क्रिकेट टीम के हेड कोच रवि शास्त्री ने बुधवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए न्यूजीलैंड के विरुद्ध खेले जाने वाले आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप 2021 के फाइनल के प्रारूप को लेकर सवाल खड़े किए हैं. शास्त्री का मानना है कि टूर्नामेंट का फाइनल ‘बेस्ट ऑफ थ्री’ होना चाहिए. इससे चैंपियनशिप को भी फायदा होगा. बता दें कि रवि शास्त्री और भारतीय कप्तान विराट कोहली ने इंग्लैंड के लिए रवाना होने से पहले बुधवार को पत्रकारों से बात की.

रवि शास्त्री ने कहा, “खिताबी मुकाबला बेस्ट ऑफ थ्री फॉर्मेट में होना चाहिए था, जबकि यहां सिर्फ एक ही मैच से विजेता का फैसला किया जाएगा. एक खराब या अच्छा मैच आपकी प्रतिभा का परिचायक नहीं हो सकता.”

उन्होंने आगे कहा, “यह पहला मौका है, जब डब्ल्यूटीसी फाइनल खेला जा रहा है, जब आप खेल के परिमाण को देखते हैं तो यह सबसे बड़ा इवेंट नजर आता है. यह एक ऐसा प्रारूप है, जो आपकी परीक्षा लेता है. टीमों ने दुनियाभर में एक-दूसरे के खिलाफ खेला है और सीरीज जीतने के बाद फाइनल तक का सफर तय किया है.”

शास्त्री के अलावा कप्तान कोहली ने कहा, “यह खिताबी मुकाबला आसान नहीं होगा. चुनौती बड़ी है. हालात नए हैं. मौसम अलग है, लेकिन हमें इन परिस्थितियों से निपटना आता है. मैं समझता हूं कि हमारे ऊपर कोई भी दबाव नहीं है.”

इंग्लैंड दौरे के लिए टीम इंडिया इस प्रकार है:

रोहित शर्मा, शुभमन गिल, मयंक अग्रवाल, रविंद्र जडेजा, अक्षर पटेल, वॉशिंगटन सुंदर, जसप्रीत बुमराह, इशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, मोहम्मद सिराज, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली (कप्तान), अजिंक्य रहाणे (उपकप्तान), हनुमा विहारी, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), रविचंद्रन अश्विन, शार्दुल ठाकुर, उमेश यादव, केएल राहुल और ऋद्धिमान साहा.

स्टैंडबाई खिलाड़ी : अभिमन्यु ईश्वरन, प्रसिद्ध कृष्णा, अवेश खान और अर्जन नागवासवाला

Leave a comment