मेहमान टीम के विरुद्ध इस मैच में सूर्यकुमार यादव को नहीं खिलाया गया था.

इंग्लैंड ने भारतीय टीम को पांच मुकाबलों की टी20 सीरीज के तीसरे मैच में 8 विकेट से शिकस्त देकर 2-1 से बढ़त हासिल कर ली है। मेहमान टीम के विरुद्ध इस मैच में सूर्यकुमार यादव को नहीं खिलाया गया था और उनकी जगह दिग्गज सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा को अंतिम ग्यारह में शामिल किया गया था।

इस मुकाबले में रोहित शर्मा ने केएल राहुल के साथ मिलकर भारत की पारी की शुरुआत की थी। भारत की तरफ से दूसरे टी20 मुकाबले में ईशान किशन और सूर्यकुमार यादव ने डेब्यू किया था। दूसरे मैच में ईशान ने शानदार अर्धशतकीय पारी खेली थी। वहीं, सूर्यकुमार को बल्लेबाजी करने का मौका नहीं मिला था। ऐसे में उन्हें तीसरे टी20 से ड्रॉप करने पर टीम इंडिया के इस फैसले की कड़ी आलोचना हो रही है।

भारत के पूर्व दिग्गज सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने विराट कोहली की कप्तानी की कड़ी आलोचना की है और सूर्यकुमार यादव को तीसरे टी20 मुकाबले में मौका नहीं देने पर भड़ास निकाली है। गंभीर ने ईएसपीएन क्रिकइन्फो से बातचीत करते हुए कहा, ”यह बात मुझे आश्चर्यचकित करती है कि विश्व कप से सात महीने पहले उसने विश्व कप की तैयारी शुरू कर दी और शायद विश्व कप के बाद वह अगले विश्व कप की तैयारी शुरू कर देगा। इससे वास्तव में कोई फर्क नहीं पड़ता।”

उन्होंने आगे कहा, ”आप जिस तरह की फॉर्म में होते हो, वो मायने रखती है। अगर चोट की समस्या हो जाती है, तो सूर्यकुमार यादव का अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में क्या होगा? उम्मीद करते हैं कि कोई चोटिल न हो, लेकिन अगर कोई चोट का मामला आता है तो किसी को नंबर 4 और नंबर 5 पर बल्लेबाजी करने की जरूरत पड़ेगी। उदाहरण के लिए अगर श्रेयस अय्यर का रिप्लेसमेंट तलाशना हो तब आप किसको मौका देंगे?”

39 साल के पूर्व भारतीय बल्लेबाज ने आगे कहा, ”इसलिए किसी ऐसे व्यक्ति को निगाह में रखें, जो पहले से ही आपके सेटअप में मौजूदा हो। कम से कम सूर्यकुमार को तीन या चार मुकाबलों में मौका दें और फिर देखें कि वह कहां पर है। अगर वह अच्छा प्रदर्शन करता है, तो आपको नंबर चार पर पहले से ही बल्लेबाजी करने वाले किसी व्यक्ति के लिए बैकअप मिल जाएगा। आप सीरीज में खिलाएं और देखें कि क्या वह भविष्य में प्रदर्शन कर पा रहा है। हम हमेशा विश्व कप की तैयारी के बारे में बात करते रहते हैं, लेकिन यह विश्व कप की कोई तैयारी नहीं है। यह सिर्फ उन्हीं खिलाड़ियों को आजमाने के बारे में है, जिन्हें आपने इतने सालों से देखा है।”

Leave a comment