इंग्लैंड के खिलाफ शुक्रवार को पुणे के महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम में खेले गए तीन मुकाबलों की वनडे सीरीज के दूसरे मैच में भारत को 6 विकेट से हार का सामना करना पड़ा. साथ ही अंग्रेजों ने सीरीज में 1-1 से बराबरी कर ली. इंग्लैंड ने भारत के दिए 337 रन के लक्ष्य को महज 43.3 ओवर में ही हासिल कर लिया. इससे पहले भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारिक 50 ओवरों में 6 विकेट के नुकसान पर 336 रन बनाए थे.

इधर, टीम इंडिया के पूर्व दिग्गज सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने भारत की हार का कारण धीमी बल्लेबाजी को माना है. एक समय ऐसा लग रहा था कि टीम इंडिया अपने विशाल स्कोर का बचाव कर लेगी, लेकिन अंग्रेजों ने भारतीय गेंदबाजों की खूब कुटाई करते हुए लक्ष्य को आसानी से हासिल कर लिया.

सहवाग ने कहा, “भारतीय बल्लेबाजों ने इंग्लैंड के स्पिन गेंदबाजों को उनके पूरे ओवर डालने दिए और उनके खिलाफ आक्रामक रुख नहीं अपनाया, जिसकी जरूरत थी. अगर भारतीय बल्लेबाज मोइन अली और आदिल रशीद के खिलाफ 15 से 20 रन और ज्यादा बनाते तो भारत का स्कोर 350 तक पहुंच जाता और इंग्लैंड के लिए इस लक्ष्य का पीछा करना आसान नहीं होता.”

वीरू ने आगे कहा, “इंग्लैंड के बल्लेबाज बेन स्टोक्स और जॉनी बेयरस्टो ने भारतीय स्पिन गेंदबाजों को सेट होने का मौका ही नहीं दिया और उनके खिलाफ पहली ही गेंद से शॉट लगाए. भारतीय बल्लेबाजों का यही लचीला रुख टीम की हार का सबसे बड़ा कारण साबित हुआ.” गौरतलब है कि दिग्गज विकेटकीपर बल्लेबाज जॉनी बेयरस्टो (124) और दिग्गज ऑलराउंडर बेन स्टोक्स (99) ने तूफानी पारियां खेलीं.

Leave a comment