टीवी शॉ कॉफी विद करण में महिलाओं के खिलाफ अपत्तिजनक टिप्पणी करने के मामले में भारतीय बल्लेबाज केएल राहुल ने पहली पार चुप्पी तोड़ते हुए बड़ा बयान दिया है। केएल राहुल ने कहा है कि उन्होंने पहली बार ऐसी विकट स्थित का सामना किया है। राहुल ने कहा कि उन्हें अपने चरित्र पर शक होने लगा था।

इंडिया टुडे को दिए इंटरव्यू में केएल राहुल ने कहा,” यह बेहद मुश्किल दौर था क्योंकि मुझे इसकी आदत नहीं थी कि लोग मुझे नापसंद करें। पहले एक सप्ताह या दस दिन मैं कुछ नहीं कर सकता था सिवाय खुद पर और अपने चरित्र पर संदेह करने के अलावा। सबसे बुरी बात यह लग रही थी कि क्या आप वास्तव में बुरे इंसान हैं जबकि आपके बारे में इतना कुछ लिखा गया था।”

टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज ने आगे कहा,” ईमानदारी से कहूं तो मैं बाहर जाने से डरता था क्योंकि मैं इसके लिए तैयार नहीं था। अगर कोई सवाल पूछेगा तो मैं नहीं जानता कि मैं क्या जवाब दूंगा। मैं अभ्यास के लिए जाता, वापस घर लौटता और अपने प्लेस्टेशन में खो जाता क्योंकि मैं लोगों का सामना करने के लिए तैयार नहीं था।”

राहुल और पांड्या को कार्यक्रम के दौरान महिलाओं पर आपत्तिजनक टिप्पणियां करने के लिए अस्थाई तौर पर निलंबित कर दिया गया था। प्रशासकों की समिति (सीओए) ने इस मामले की जांच की जिम्मेदारी उच्चतम न्यायालय से नियुक्त बीसीसीआई लोकपाल को सौंपी है जिस पर फैसला आना अभी बाकी है।

हमारा फेसबुक पेज लाइक करें

www.facebook.com/crictodayhindi

Leave a comment

Cancel reply