sachin tendulkar birthday crictoday
तेंदुलकर 21वीं सदी के सबसे महान क्रिकेटर बने.

हर किसी इंसान को अपनी जिंदगी में सफलता पाने के लिए कोई न कोई परीक्षा से गुज़रना पड़ता है. हर किसी की चाह होती है कि वो अपने भविष्य को उज्जवल बनाए, जो सच्ची लगन से महनत करते हैं. उन्हें कभी न कभी सफलता ज़रूर मिलती है. क्रिकेट के खेल में भी यही सिद्धांत लागू होता है.

सच तो यह भी है कि हम खुद को पहचानते नहीं हैं और दूसरों के पीछे भागते हैं. अगर कामयाब और सफल इंसान बनना चाहते हैं तो खुद को भूलकर दूसरों की होड़ ना करें, बल्कि अपने ज्ञान को बढ़ाने की कोशिश करें. यही सफलता का मूल मन्त्र है.

हर इंसान की अपनी योग्यता होती है. कोई किसी काम में निपुण होता है तो कोई अन्य कार्यों में. सफल होने का पहला गुण है इंसान की ‘योग्यता’. अगर आप किसी कार्य को करने के योग्य नहीं हैं, तो चाहे जितनी मर्जी कोशिश कर लें आप, उसमें सफल नहीं हो पाएंगे.

ऐसे कई खिलाड़ी हैं, जिन्होंने अपने जुनून और कड़ी महनत की बदौलत विश्व के सबसे सफल खिलाड़ियों की लिस्ट में अपना नाम दर्ज कराया है. पिछले आर्टिकल में हमने विराट कोहली की बात की थी, जिन्होंने अपनी सकरात्मक सोच, सच्ची लगन, कड़ी महनत और इमानदारी से विश्व के सबसे कामयाब, सबसे बड़े और सबसे अमीर खिलाड़ियों की लिस्ट में अपना नाम शुमार किया है.

इसके अलावा भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर भी दुनिया के सबसे सफल क्रिकेटर हैं. अब हम सचिन तेंदुलकर द्वारा कहे गए, प्रेरणा देने वाले 10 कोट्स पर नज़र डालेंगे, जो आपकी ज़िन्दगी को बदल सकते हैं.

  1. “क्रिकेट में पैसा बनाना मेरे लिए महत्वपूर्ण नहीं है, बल्कि क्रिकेट में रन बनाना मेरे लिए कहीं ज्यादा महत्वपूर्ण है.”

2. “मेरे पिता जी का कहना था कि अगर मै एक बेहतर क्रिकेटर से बेहतर इंसान बनू तो यह एक पिता के लिए ज्यादा खुशी की बात होगी. मैंने कभी यह नहीं सोचा कि मैं कहां जाऊंगा या मैंने किसी लक्ष्य के लिए खुद को मजबूत नहीं किया.”

3. “टीम की जीत के लिए हर खिलाड़ी का योगदान महत्वपूर्ण होता है, जिसके कारण जीत महान बन जाती है.”

4. “मै तुलना में कभी विश्वास नहीं करता, चाहे वह विभिन्न युग के बारे में हो, खिलाड़ी या कोच के बारे में हो.”

5. “पाकिस्तान को हराना हमेशा से स्पेशल रहा है, क्योंकि पाकिस्तानी टीम एक मुश्किल टीम रही है और पाकिस्तान का इतिहास सब कुछ स्पष्ट बता देता है.”

6. “मै एक खिलाड़ी हूं – राजनेता नहीं, मै क्रिकेट छोड़कर पॉलिटिक्स में नहीं जा रहा. क्रिक्रेट मेरी लाइफ है और मै हमेशा उसी के साथ रहूंगा.”

7. “किसी भी एक्टिव खिलाड़ी को अपना ध्यान अपने लक्ष्य पर केन्द्रित करना होगा और अपने मन को सही दिशा में लगाना होगा, क्योंकि अगर आपका फोकस कहीं और होगा तो आपको अच्छा रिजल्ट प्राप्त नहीं हो सकता.”

8. “मैं अपने पिता को देख बड़ा हुआ हूं और कैसे व्यवहार किया जाता है, यह मैंने उनसे सीखा है. वे स्वभाव से बड़े शांत व्यक्ति थे और मैंने उन्हें कभी गुस्सा होते नहीं देखा.”

9. “आपका हर दिन अच्छा नही हो सकता है, लेकिन आप हर दिन को अच्छा बना सकते हैं.”

10. “हर किसी के रोल मॉडल होते हैं और मेरे रोल मॉडल की बात की जाय तो मेरे दो रोल मॉडल हैं पहला सुनील गावस्कर और दूसरे विवियन रिचर्ड्स.”

Leave a comment

Cancel reply