भारतीय गेंदबाजों ने पहले दिन शानदार बोलिंग करते हुए मेजबान टीम को 183 रनों पर समेत दिया था.

भारत और इंग्लैंड के बीच पांच मुकाबलों की टेस्ट सीरीज का आगाज हो चुका है। विराट कोहली के नेतृत्व वाली टीम इंडिया ने नॉटिंघम टेस्ट के पहले दिन जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए अंग्रेजों को अपने आक्रमक इरादे बता दिए हैं। भारतीय गेंदबाजों ने पहले दिन शानदार बोलिंग करते हुए मेजबान टीम को 183 रनों पर समेत दिया। ऐसे में पाकिस्तान के पूर्व कप्तान इंजमाम उल हक ने भारत के इस परफॉरमेंस की जमकर प्रशंसा की है।

51 साल के पूर्व क्रिकेटर ने कहा कि टीम इंडिया ने टेस्ट मुकाबले के पहले दिन, जिस आक्रामकता का प्रदर्शन दिखाया उससे साफ दिखाई देता है कि उन्हें आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मैच हारना कितना दुख है। इंजमाम ने अपने यूट्यूब चैनल पर बातचीत करते हुए इस बात की भी दावा किया है कि दूसरा दिन भारत के लिए बहुत महत्वपूर्ण होगा।

दाएं हाथ के पूर्व बल्लेबाज ने कहा, “दूसरा दिन भारत के लिए बहुत अहम है। अगर वे 300 – 350 रन बना देते हैं तो फिर ये टेस्ट मैच भारत के पक्ष में हो जाएगा। खिलाड़ियों को जिम्मेदारी से खेलना होगा और भारत के पास कई बड़े प्लेयर हैं। मैं भारतीय खिलाड़ियों के चेहरे पर विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप का फाइनल हारने का दर्द देख सकता था और उस मैच में भारतीय खिलाड़ियों में जो आक्रामकता नजर नहीं आई थी, वो यहां दिखी।”

इंग्लैंड के विरुद्ध पहले टेस्ट में भारत की अंतिम ग्यारह को लेकर कई दिग्गज खिलाड़ियों ने टीम मैनजेमेंट की कड़ी आलोचना की, जबकि इंजमाम उल हक ने प्लेइंग इलेवन की तारीफ की। उन्होंने कहा, “ऑस्ट्रेलिया दौरे के बाद से भारत के बॉडी लैंग्वेज में बहुत बदलाव आया है। अब वे आक्रामकता के साथ क्रिकेट खेलते हैं। ऐसा पिछले 1-2 सालों में हुआ है। उन्होंने अपनी टीम में चार तेज गेंदबाजों और एक ऑलराउंडर का चयन किया और ये एक पॉजिटिव संकेत है। उन्होंने इंग्लैंड के ड्रेसिंग रूम में साफ संदेश दे दिया है कि वे आक्रमक क्रिकेट ही खेलने वाले हैं।”

बताते चलें कि इस समय टेस्ट मुकाबले में टीम इंडिया मजबूत स्थति में दिखाई दे रही है। भारत की सलामी जोड़ी रोहित शर्मा और केएल राहुल ने पहले दिन बिना विकेट खोए 21 बना लिए हैं। अब दूसरे दिन दोनों बल्लेबाजों पर इस साझेदारी को आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी होगी।

Leave a comment