टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा के फिट होने पर कप्तान विराट कोहली ने बीते दिनों पहले बयान दिया था। अब उस मामले में पूर्व दिग्गज खिलाड़ी और क्रिकेट एडवाइजरी कमेटी के मेंबर मदन लाल ने कोहली का सपोर्ट किया है। मंगलवार को पूर्व क्रिकेटर ने कहा कि टीम के खिलाड़ियों और स्टाफ में कम्युनिकेशन होना बहुत जरूरी होता है। लेकिन जो कम्युनिकेशन इस समय भारतीय टीम में नजर आ रहा है वह सही नहीं है।

मदन लाल ने कहा कि अगर रोहित शर्मा फिट नहीं थे तो वह अपनी फ्रेंचाइजी टीम के लिए क्यों खेले? उन्हें यह बताना चाहिए। दरअसल विराट कोहली ने कुछ दिन पहले कहा था कि टीम के साथ ऑस्ट्रेलिया रोहित शर्मा क्यों नहीं आए उन्हें नहीं पता। कप्तान के इस बयान पर ही अब पूर्व क्रिकेटर ने अपनी बात रखी है।

रोहित शर्मा की चोट पर विराट कोहली ने कहा था कि उनकी चोट पर कुछ स्पष्ट नहीं है। इसी कारण से मैनेजमेंट को उनकी उपलब्धता के लिए इंतजार करना पड़ रहा है। जो कि सही नहीं है। वहीं कप्तान ने ऋद्धिमान साहा को लेकर बताया कि ऑस्ट्रेलिया में उनका रिहैब चल रहा है।

मदन लाल कहते हैं कि रोहित शर्मा के मामले में विराट कोहली ने जो भी कहा है वह बिलकुल सही है। कप्तान को स्पष्ट रूप से हर चीज के बारे में पता होना चाहिए क्योंकि वह एक टीम का नेतृत्व कर कर रहा है। टीम के सभी खिलाड़ियों के साथ क्या हो रहा है इस बात की पूरी जानकारी कप्तान और कोच को होनी चाहिए।

पूर्व खिलाड़ी ने कहा कि कोई और नहीं केवल रोहित या उनकी फ्रेंचाइजी ही इस बात को साफ कर सकती है कि जब 70 प्रतिशत ही रोहित फिट थे तो मुंबई इंडियंस के लिए आईपीएल में वह क्यों खेले। मेरा मनाना है कि कम्युनिकेशन लेवल टीम में अच्छा होना चाहिए।

इंजरी पर मदन लाल ने कहा कि यह खेल का हिस्सा है। ''एक तरफ तो बेंच स्ट्रेंथ की बात आप कर रहे हैं जबकि दूसरी ओर आप इंजरी की बात कर रहे हैं।'' उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं होता क्योंकि प्रॉपर रिहैब के अनुसार कोई भी खिलाड़ी नहीं चलता तो उसको चोट लगने के चांस बढ़ जाते हैं। हालांकि खिलाड़ियों के चोटिल होने पर कई नए प्लेयर्स हमारे पास होते हैं जो अपने अवसरों का बेसब्री से इंतजार कर रहे होते हैं।

इन दिनों बेंगलुरु में नेशनल क्रिकेट एकेडमी (NCA) में रोहित शर्मा रिहैब कर रहे हैं। वह इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन के दौरान चोटिल हो गए थे। ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए वन-डे और टी-20 टीमों का जहां रोहित को हिस्सा नहीं बनाया गया था। वहीं भारत की टेस्ट टीम में उन्हें शामिल किया गया था। हालांकि तीन हफ्ते वह पूरी तरह से फिट होने के लिए दूर हैं। वह पूरी तरह से फिट होने के बाद अगर ऑस्ट्रेलिया जाते हैं तो पहले 14 दिनों के लिए क्वारंटाइन होना होगा। इसी वजह से टेस्ट सीरीज के पहले दो मुकाबलों में उनके खेलने पर संशय फिलहाल बना हुआ है।

Leave a comment