virat kohli
पूर्व कंगारू विकेटकीपर बल्लेबाज ने इस मामले पर कहा कि विराट कोहली की निराशा इस हद तक बढ़ गई थी कि वह उस क्षण पर पहुंच गई।

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी शेन वॉर्न (Shane Warne) और एडम गिलक्रिस्ट (Adam Gilchrist) ने दक्षिण अफ्रीका और भारत के बीच खेले गए केपटाउन टेस्ट के दौरान हुए डीआरएस विवाद (DRS) पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। पूर्व कंगारू विकेटकीपर बल्लेबाज ने इस मामले पर कहा कि विराट कोहली (Virat Kohli) की निराशा इस हद तक बढ़ गई थी कि वह उस क्षण पर पहुंच गई।

गिलक्रिस्ट ने कहा, “मैं जिस आरोप में दिलचस्पी हूं वो यह कि यह सब पहले से प्लान किया लगता है। ये काफी समय से हो रहा था और फिर उस दिन यह एक ब्रेकिंग प्वाइंट पर पहुंच गया है। गेंद को चमकाने वाली टीम्स को कैमरा पर दिखाने के आरोप को मैं मान रहा हूं। यह सभी उस मामले की तरफ वापस जाता है, जब ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी कैमरे पर पकड़े गए थे।” वहीं, वॉर्न ने स्वीकार किया कि गेंद स्टंप्स से टकराने जैसी लग रही थी। हालांकि, वह भी विराट के व्यवहार से खुश नहीं थे।

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई लेग स्पिनर ने कहा, “देखिए, यह एक दिलचस्प मामला है। मुझे यकीन नहीं है कि एक अंतर्राष्ट्रीय टीम के कप्तान को ऐसा करना चाहिए, लेकिन कभी-कभी निराशा बढ़ जाती है। आप बस इतना निराश हो जाते हैं, इसलिए मैंने कहा कि मुझे आश्चर्य है कि क्या इस सीरीज में ऐसा तीन या चार बार हुआ है और फिर उन्हें लगा कि बहुत हो गया। अब ऐसा और नहीं हो सकता।”

बता दें कि यह घटना दक्षिण अफ्रीका (South Africa) की दूसरी पारी के 21वें ओवर के दौरान हुई थी। इस ओवर ने ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन गेंदबाजी कर रहे थे। ऐसे में उनकी एक गेंद कप्तान डीन एल्गर के पैरों पर लगी और इस पर वह साफ एलबीडब्ल्यू लग रहे थे। मगर रिप्ले में पता चला कि गेंद स्टंप के ऊपर से निकल रही है। इस फैसले पर भारतीय कप्तान विराट कोहली सहित टीम के अन्य साथी खिलाड़ियों ने नाराजगी जताई थी।

Leave a comment

Cancel reply