सनबर्न एवं स्किन कैंसर से बचने के लिए लोग सनस्क्रीन का इस्तेमाल करते हैं. हालांकि ये क्रीम दो तरह की होती हैं, जैसे रेगुलर सनस्क्रीन और स्पोर्ट्स सनस्क्रीन. आज हम इन दोनों के बीच अंतर जानेंगे.

नियमित सनस्क्रीन का इस्तेमाल

यदि आप खरीदारी कर रहे हों, या फिर समुद्र तट पर बैठकर किताब पढ़ रहे हों तो धूप के दिनों में रेगुलर सनस्क्रीन ठीक रहती है. खासतौर से इसका इस्तेमाल नियमित रूप से धूप में रहने वाले लोगों को करना चाहिए.

स्पोर्ट्स सनस्क्रीन का इस्तेमाल

यदि लंबे समय तक धूप में रहने की योजना बनाते हैं या पानी में डूबे रहने वाले हैं (उदाहरण के लिए, समुद्र में सर्फिंग या एक आउटडोर पूल में तैरना) तो स्पोर्ट्स सनस्क्रीन सबसे बेहतर विकल्प है. यह क्रीम धूप में तैराकी करने वाले लोगों के लिए फायदे का सौदा है. इसके अलावा क्रिकेटर्स, फुटबॉलर्स, आदि जैसे खिलाड़ी भी स्पोर्ट्स क्रीम का इस्तेमाल करते हैं. स्पोर्ट्स सनस्क्रीन को खासतौर से खिलाड़ियों के लिए तैयार किया गया है, जहां खिलाड़ी इसका इस्तेमाल करके लंबे समय तक धूप में पसीना बहा सकते हैं, वहीं रेगुलर सनस्क्रीन सिर्फ उन्ही लोगों के लिए है, जो ज्यादा देर तक धूप में नहीं रहना चाहते.

स्पोर्ट्स और रेगुलर सनस्क्रीन में अंतर

धूप की किरणें त्वचा को नुक्सान पहुंचाती हैं, जिससे सनबर्न एवं स्किन कैंसर जैसी बिमारी होने का खतरा बढ़ जाता है. इससे बचने के लिए सबसे बेहतर सनस्क्रीन क्रीम का इस्तेमाल करना चाहिए.

1. स्पोर्ट्स सनस्क्रीन नियमित सनस्क्रीन की तुलना में एसपीएफ सुरक्षा प्रदान करती है.

2. स्पोर्ट्स सनस्क्रीन रेगुलर सनस्क्रीन के मुकाबले लंबे समय तक पानी में विसर्जन के लिए ज़्यादा प्रतिरोधी होती है.

3. धूप में लंबे समय तक आनंद लेने या मैदान में पसीना बहाने के लिए स्पोर्ट्स सनस्क्रीन किसी के लिए भी सबसे बेहतर विकल्प है.

4. शहरों में उच्च स्तर के वायुमंडलीय प्रदूषकों को ध्यान में रखते हुए स्पोर्ट्स सनस्क्रीन को तैयार किया गया है, जिसमें प्रदूषण-रोधी गुण होते हैं.

5. स्पोर्ट्स सनस्क्रीन नियमित सनस्क्रीन के मुकाबले अधिक मात्रा में हानिकारक संरक्षक से मुक्त होती है.

6. स्पोर्ट्स सनस्क्रीन नियमित सनस्क्रीन के मुकाबले वातावरण के ज़्यादा अनुकूल है.

Leave a comment

Cancel reply