कमिंस आईपीएल में सबसे महंगे बिकने वाले खिलाड़ियों में से एक हैं.

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) दुनिया की सबसे बड़ी और सबसे चर्चित टी20 लीग्स में से एक है. इसका सबसे पहला संस्करण 2008 में भारत में खेला गया था. इसके बाद अभी तक इस लीग के 13 सीजंस सफलतापूर्वक आयोजित हो चुके हैं. इस बार का आईपीएल 9 अप्रैल से 30 मई तक खेला जाएगा.

इससे पहले आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स का प्रतिनिधित्व करने वाले ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज पेट कमिंस ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि IPL में मोटी रकम मिलने का ये मतलब नहीं कि गेंद अचानक स्विंग होने लगेगी. कमिंस पिछले संस्करण की नीलामी में सबसे महंगे बिकने वाले विदेशी खिलाड़ी बने थे. उन्हें केकेआर ने साढ़े 15 करोड़ रूपय में खरीदा था.

दाएं हाथ के तेज गेंदबाज ने कहा, “आप कहीं पर भी पेशेवर क्रिकेट खेलें, आप पर काफी दबाव रहता है. अगर आप अच्छा प्रदर्शन कर मैदान पर उतरते हैं तो उसे फिर से दोहराने का दबाव होता है. अगर आप अच्छा प्रदर्शन कर मैदान पर उतरते हैं, तो उसे फिर से दोहराने का दबाव होता है. अगर आप खराब प्रदर्शन करके आते हैं तो आप पर बेहतर करने का दबाव होता है.”

उन्होंने आगे कहा, “मुझे लगता है कि नीलामी से अलग तरह का दबाव आता है. हम इससे सामंजस्य बैठाने की कोशिश करते हैं. आपको अधिक पैसे में खरीदा गया है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि गेंद अचानक अधिक स्विंग करने लगेगी है या विकेट अचानक से घसियाली हो जाएगी या सीमा-रेखा बड़ी हो जाएगी.”

Leave a comment