suresh raina-virat kohli
आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का खिताब हारने पर एक बार फिर से विराट कोहली अपनी कप्तानी के चलते आलोचकों के निशाने पर आ गए हैं।

न्यूजीलैंड के विरुद्ध आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का खिताब हारने पर एक बार फिर से विराट कोहली अपनी कप्तानी के चलते आलोचकों के निशाने पर आ गए हैं। भारत की लगातार आईसीसी टूर्नामेंट में तीसरी हार के बाद कोहली को टीम के कप्तान पद से हटाने की मांग उठ रही है। कई दिग्गज खिलाड़ियों ने कहा है कि टी20 प्रारूप में रोहित शर्मा को टीम इंडिया का कप्तान नियुक्त कर देना चाहिए और हिटमैन के नेतृत्व में भारत को अगला टी20 विश्व कप खेलना चाहिए। वहीं, कपिल देव, सुनील गावस्कर जैसे पूर्व महानतम क्रिकेटर्स का मानना है कि विराट कोहली अच्छे कप्तान हैं और उन्हीं को कप्तान बने रहना चाहिए। अब इस सूची में भारतीय टीम के पूर्व बल्लेबाज सुरेश रैना का नाम भी जुड़ गया है। उन्होंने कप्तानी को लेकर विराट का समर्थन किया है।

34 साल के पूर्व बाएं हाथ के बल्लेबाज ने न्यूज 24 स्पोर्ट्स के साथ बातचीत करते हुए कहा, “मुझे लगता है कि वे नंबर वन कप्तान हैं। उनके रिकॉर्ड यह बताते हैं कि उन्होंने काफी कुछ हासिल किया है। मुझे लगता है कि कोहली दुनिया के नंबर एक बल्लेबाज हैं। आप आईसीसी ट्रॉफी की बात कर रहे हैं, लेकिन उन्होंने अभी तक आईपीएल तक नहीं जीता है। मेरे अनुसार से उनको थोड़ा टाइम देना चाहिए।”

रैना ने आगे कहा, “एक के बाद एक लगातार दो से तीन वर्ल्ड कप होने हैं, 2 टी20 वर्ल्ड कप और एक 50 ओवर विश्व कप। फाइनल तक पहुंचना आसान नहीं होता है, कभी-कभी आप कुछ चीजें मिस कर जाते हैं।” इसके अलावा उन्होंने आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में भारत की हार के पीछा का भी कारण बताया। पूर्व भारतीय क्रिकेटर ने कहा, “डब्ल्यूटीसी का फाइनल इसका एक उदाहरण है। लोगों ने कहा कि यह कंडिशंस की वजह से हुआ, लेकिन मुझे लगता है कि हमारी बल्लेबाजी में कुछ कमी रही। बड़े बल्लेबाजों को पार्टनरशिप करनी चाहिए और जिम्मेदारी लेनी चाहिए।”

यह भी पढ़ें | छह महीने की हुई विराट-अनुष्का की नन्हीं परी, वामिका संग खेलते नज़र आए कोहली, देखें तस्वीरें

रैना ने टीम इंडिया को चोकर्स कहे जाने पर भी कहा, “देखिए, हम चौकर्स नहीं हैं, क्योंकि हमारे पास पहले से ही 1983 विश्व कप, 2007 टी20 विश्व कप और 2011 विश्व कप है। हमें यह समझने की जरूरत है कि खिलाड़ी कड़ी मेहनत कर रहे हैं। तीन विश्व कप आने वाले हैं। मुझे नहीं लगता कि कोई उन्हें चौकर्स कहेगा।”