pujara rahane
भारतीय विकेटकीपर की मांग, 'पुजारा और रहाणे को टीम से बाहर करके युवा खिलाड़ियों को मौका दिया जाए'

भारतीय (India) टीम के पूर्व विकेटकीपर सबा करीम (Saba Karim) ने खराब फॉर्म से जूझ रहे टीम इंडिया के दिग्गज बल्लेबाजों अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) और चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) को लेकर बड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. उनका मानना है कि इन दोनों को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन में खेले जाने वाले सीरीज के तीसरे और आखिरी टेस्ट मैच में जगह नहीं देनी चाहिए, बल्कि उनकी जगह युवा बल्लेबाजों को भारत की अंतिम एकादश में शामिल करना चाहिए.

54 साल के सबा करीम ने खेलनीति यू-ट्यूब चैनल से बातचीत करते हुए कहा, “क्‍या, जो बल्‍लेबाजी क्रम हम चुन रहे हैं वो हमें अपनी योग्‍यता का भरपूर प्रदर्शन दे रहा है. क्‍या हम ऐसे युवाओं को टीम में मौका दे सकते हैं, जिन्‍होंने घरेलू क्रिकेट में खेलकर काफी अनुभव प्राप्‍त किया है. क्‍या ये युवा टीम में अतिरिक्‍त वेल्‍यू दे पाएंगे.”

सबा ने कहा, “क्‍या हमें रहाणे और पुजारा, जैसे अनुभवी बल्‍लेबाजों को मौका देना चाहिए जो कभी-कभी रन बनाते हैं. हम अब यह सोचने की जरूर है कि क्‍या वो टीम में उतना योगदान दे पा रहे हैं, जितना उन्‍हें देना चाहिए. क्‍या अन्‍य बल्‍लेबाज उनसे अतिरिक्‍त दे पाएंगे.”

यह भी पढ़ें | कोहली बेहद ख़ास कप्तान हैं, लेकिन उनकी कदर नहीं की गई – पूर्व भारतीय बल्लेबाज

उन्होंने आगे कहा, “यह जरूरी है कि मिडिल ऑर्डर की समस्‍या का समाधान जल्‍द से जल्‍द कराया जाए. आपके पास काफी अनुभव है. चार पांच पारियों के बाद आप 40 से 50 रन बना लेते हो, लेकिन क्‍या इसका मतलब है कि हम सही दिशा में आगे बढ़ रहे हैं.”

गौरतलब है कि रहाणे और पुजारा पिछले काफी समय से खराब फॉर्म से गुज़र रहे हैं. दोनों ही भारतीय बल्लेबाजों ने कई महीनों से एक भी शतक नहीं जड़ा है. ऐसे में उनकी कड़ी आलोचना हो रही है. हालांकि, दोनों ने जोहांसबर्ग टेस्ट मैच में अर्धशतक जड़े थे, लेकिन सवाल यह उठता है कि क्‍या ये रन काफी हैं, जिसके आधार पर हनुमा विहारी और श्रेयस अय्यर, जैसे बल्‍लेबाजों को बैंच पर ही बैठाए रखा जाए.

Leave a comment

Cancel reply