prithvi shaw news crictoday
'पृथ्वी शॉ भारतीय टीम के भविष्य के सफल कप्तान साबित होंगे', पूर्व भारतीय ओपनर ने किया दावा

युवा भारतीय बल्लेबाज पृथ्वी शॉ (Prithvi Shaw) टीम इंडिया में जगह नहीं मिलने पर काफी निराश हैं। उनका कहना है कि अच्छा प्रदर्शन करने के बावजूद चयनकर्ता उन्हें मौका नहीं दे रहे हैं। साथ ही पृथ्वी ने कहा कि उन्होंने अपनी फिटनेस पर काफी मेहनत की है। यहां तक कि उन्होंने कोल्ड ड्रिंक (Cold Drink) पीना और मिठाई खाना भी छोड़ दिया है।

22 साल के पृथ्वी शॉ ने मिड डे के साथ खास बातचीत करते हुए कहा, “मैं रन बना रहा हूं और काफी मेहनत कर रहा हूं, लेकिन इसके बावजूद मुझे मौके नहीं मिल रहे हैं। हालांकि, मुझे उम्मीद है कि जब चयनकर्ताओं को लगेगा कि मैं तैयार हूं तो वे मुझे टीम में शामिल करेंगे। अगर मुझे इंडिया ए या दूसरी टीमों के लिए खेलने का मौका मिलेगा तो मैं उनमे अच्छा प्रदर्शन करने की कोशिश करूंगा।”

उन्होंने आगे कहा, “मैंने अपनी बल्लेबाजी में कोई बड़े बदलाव नहीं किए हैं। मगर फिटनेस पर काफी मेहनत की है। मैंने अपना वजन घटाया है और आईपीएल के बाद करीब आठ किलो वजन कम कर लिया है। मैं जिम में काफी वक़्त बिताता हूं। इसके अलावा मैं कोई मिठाई भी नहीं खाता और कोल्ड ड्रिंक पीना भी छोड़ दिया है। चाइनीज फूड तो मेरे मेन्यू से एकदम बाहर हो चुका है।”

गौरतलब है कि दाएं हाथ के बल्लेबाज ने नीली जर्सी वाली टीम के लिए कुल 12 इंटरनेशनल मैच खेले हैं। उन्होंने 6 एकदिवसीय मुकाबलों में 189 रन और 5 टेस्ट में 42.37 की औसत से 339 रन बनाए हैं। इस दौरान उनके बल्ले से 1 शतक और 2 अर्धशतक निकले। वहीं टी20 आई की बात करें तो शॉ ने महज मैच खेला है, जिसमें वे अपना खाता भी नहीं खोल सके थे।

Q. पृथ्वी शॉ ने भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट कब डेब्यू किया था?

A. 4 अक्टूबर 2018 (बनाम वेस्टइंडीज)

7 खिलाड़ी, जिनकी बीवियों की बोल्डनेस पूरी दुनिया में है फेमस – video

Leave a comment

Cancel reply