मोहम्मद शमी
मरहूम पिता को याद कर छलके शमी के आंसू, बोले '200 विकेट का जश्न मेरे पापा के लिए था'

भारतीय टीम के दिग्गज तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सेंचुरियन (Centurian) में खेले जा रहे तीन मुकाबलों की टेस्ट सीरीज के पहले मैच में कमाल कर दिया है. शमी ने पहली पारी में पांच विकेट चटकाए और इसी के साथ वे लाल गेंद वाले क्रिकेट में 200 विकेट हासिल करने वाले गेंदबाज बन गए. इस बड़ी उपलब्धि को हासिल करने के बाद शमी भावुक भी हुए और अपने दिवंगत पिता तौसीफ अली को याद कर उनकी आखें भर आईं. शमी ने टेस्ट क्रिकेट में विकेट के दोहरे शतक की इस उपलब्धि को अपने पिता को समर्पित किया है.

तीसरे दिन के खेल के बाद BCCI.TV पर गेंदबाजी कोच पारस महाम्ब्रे से बात करते हुए शमी ने कहा, “200 विकेट हासिल करने के बाद, जो मेरा सेलिब्रेशन था, वह मेरे दिवंगत पिता के लिए था. उनका 2017 को निधन हो गया.”

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि साल 2017 में जनवरी के महीने में मोहम्मद शमी के पिता का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था. तौसीफ अमरोहा के सहसपुर अलीनगर के रहने वाले थे. उनको अचानक देर रात दिल का दौरा पड़ा, जब तक उनके परिवार वाले उन्हें हॉस्पिटल ले जाते उससे पहले ही उनकी मौत हो गई थी.

वहीं, दूसरी तरफ मोहम्मद शमी लाल गेंद वाले क्रिकेट में 200 विकेट हासिल करने वाले भारत के पांचवें पेसर बन गए हैं. उनसे पहले टेस्ट में (भारतीय तेज गेंदबाज) यह कारनामा कपिल देव, जहीर खान, इशांत शर्मा और जवागल श्रीनाथ कर चुके हैं.

Leave a comment

Cancel reply