Joe Root
गौरतलब है कि जो रूट ने इंग्लैंड की टेस्ट टीम की कप्तानी 5 साल तक की।

जो रूट (Joe Root) ने इंग्लैंड की टेस्ट टीम (England Test Team) की कप्तानी पद से इस्तीफा दे दिया है। हाल ही में वेस्टइंडीज (West Indies) के खिलाफ तीन मुकाबलों की टेस्ट सीरीज में इंग्लिश टीम को मिली 0-1 से हार के बाद 31 साल के रूट ने टीम की कप्तानी छोड़ने का फैसला किया। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने भी इंग्लैंड को एशेज सीरीज में 4-0 से करारी शिकस्त दी थी और पिछले कुछ समय से टेस्ट टीम का प्रदर्शन लगातार निराशाजनक रहा है। बता दें कि रूट को साल 2017 में टेस्ट टीम का कप्तान नियुक्त किया गया था।

शुक्रवार को जो रूट ने बयान जारी करते हुए कहा, “कप्तानी छोड़ने का यह सही वक्त था। मुझे अपने देश की कप्तानी करने पर बेहद गर्व है और मैं पिछले 5 सालों को बड़े गर्व के साथ देखूंगा। यह काम करना सम्मान की बात है और मुझे खुशी है कि इंग्लिश क्रिकेट के शिखर के संरक्षक के तौर पर काम कर सका। यह मेरे करियर में सबसे चुनौतीपूर्ण निर्णय रहा, लेकिन अपने परिवार और करीबी लोगों के साथ चर्चा करने के बाद, मुझे पता लगा कि कप्तानी छोड़ने का यही सही वक्त है।”

दाएं हाथ के इंग्लिश बल्लेबाज ने आगे कहा, “मुझे इंग्लैंड की टीम की कप्तानी करना पसंद था, लेकिन हाल में मैंने देखा कि इस जिम्मेदारी को संभालने का मुझ पर कितना असर हुआ। खेल से अलग भी इस जिम्मेदारी ने मुझ पर गहरा प्रभाव डाला। मैं इस अवसर पर अपने परिवार, कैरी, अल्फ्रेड और बेला को धन्यवाद देना चाहता हूं, जिन्होंने यह सब मेरे साथ जिया है और पूरे समय प्यार और समर्थन के अविश्वसनीय स्तंभ रहे हैं।”

गौरतलब है कि जो रूट ने इंग्लैंड की टेस्ट टीम की कप्तानी 5 साल तक की। उन्होंने दूसरे इंग्लिश कप्तान की तुलना में सर्वाधिक 64 टेस्ट मुकाबले खेले हैं, जिसमें 27 जीते हैं और 26 में हार का सामना किया। मगर उनके नेतृत्व में पिछले 17 टेस्ट मुकाबलों में इंग्लैंड को मात्र एक में जीत मिली और यही वजह है उन्होंने टीम की कप्तानी छोड़ने का फैसला किया।

Leave a comment

Cancel reply