vivo ipl
आईपीएल 2022 की मेजबानी क्यों करना चाहता है श्रीलंका? बड़ी वजह आई सामने

बीसीसीआई (BCCI) के रंगारंग घरेलू टी20 टूर्नामेंट इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) को नया स्पॉन्सर मिल गया है. टाटा (TATA) समूह चीन की मोबाइल कंपनी VIVO को रिप्लेस करने के लिए तैयार है. रिपोर्ट के अनुसार, 15वें संस्करण में टाटा आईपीएल का टाइटल स्पॉन्सर होगा.

मंगलवार को आईपीएल गवर्निंग काउंसिल की मीटिंग के दौरान उन्होंने बताया कि हां, टाटा ग्रुप आईपीएल टाइटल स्पॉन्सर के रूप में आ रहा है.

आईपीएल के चेयरमैन ब्रिजेश पटेल ने कहा, “टाटा समूह अगले साल चीनी मोबाइल निर्माता कंपनी वीवो की जगह आईपीएल का प्रायोजक होगा. वीवो ने अधिकारों को ट्रांसफर करने का अनुरोध किया था, जिसे गवर्निंग काउंसिल ने पारित कर दिया.”

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि वीवो के पास लगभग 2 सालों की स्पॉन्सरशिप और बची हुई थी. इस ट्रांसफर के बाद अब अगले दो साल तक टाटा आईपीएल का टाइटल स्पॉन्सर होगा. बताया जा रहा है कि भारतीय कंट्रोल बोर्ड को इन अधिकारों के ट्रांसफर से भी 440 करोड़ रुपये की आमदनी होगी.

वहीं, चीनी मोबाइल कंपनी ने 2018 में अगले पांच साल के लिए आईपीएल के टाइटल स्पॉन्सरशिप के अधिकार हासिल किए थे. इसके लिए कंपनी ने 2,190 करोड़ रुपये खर्च किए थे.

Leave a comment

Cancel reply