Hasan Ali
उन्होंने कहा कि उन्हें इस कैच छोड़ने की वजह से कई रातों तक बूरे सपने आए थे।

पाकिस्तान के तेज गेंदबाज हसन अली (Hasan Ali) ने पिछले साल टी20 विश्व कप (T20 WC 2021) के सेमीफाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया (Australia) के बल्लेबाज मैथ्यू वेड (Matthew Wade) का कैच ड्रॉप किया था और अब उन्होंने इस पर अपनी राय व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि उन्हें इस कैच छोड़ने की वजह से कई रातों तक बूरे सपने आए थे। इतना ही नहीं हसन ने यह भी कहा कि उन्हें ऐसा लगता कि उस वजह से लोग उनसे नफरत करते हैं।

27 साल के हसन अली ने पाकिस्तान की क्रिकेट वेबसाइट पाकपैशन के साथ बातचीत करते हुए कहा, “ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सेमीफाइनल में कैच छूटने से मुझे कुछ रातों तक बूरे सपने आए थे। मैं गहरे सदमे में था, क्योंकि मुझे ऐसा लग रहा था कि मैंने अपनी टीम को हराया है। मुझे यह पता नहीं लग सका कि मैंने उस कैच को कैसे और क्यों छोड़ा।”

उन्होंने आगे कहा, “विशेष रूप से यह देखते हुए कि एक व्यक्ति और एक टीम के रूप में हम अपने फील्डिंग के लिए कठिन प्रैक्टिस करते हैं, इसलिए यह मेरे लिए समझने के लिए बहुत मुश्किल था कि ऐसा कैसे हो गया था, लेकिन एक क्रिकेटर में मुझे पता है कि ऐसी चीजें मैदान पर फिर से हो सकती हैं, जैसे कि पहले कैच ड्रॉप हुए हैं बाद में हो सकते हैं।”

अली ने कहा, “बेशक, मेरे लिए यह अधिक दर्दनाक है, क्योंकि मुझे लगता है कि लोग मुझसे नफरत करने लगे हैं और यह मानने लगे हैं कि मैं पाकिस्तान के लिए खेलने में असमर्थ हूं। जाहिर है कि यह एक अलग कहानी होती अगर मैं उस कैच को पकड़ता, लेकिन वह अतीत है और कोई भी इसे बदल नहीं सकता है। मुझे बस इतना पता है कि एक क्रिकेटर के रूप में मुझे इसे भूला देना है, लेकिन मेरे लिए मुश्किल होगा और मुझे यह पसंद है या नहीं, यह टैग हमेशा मेरे साथ रहेगा।”

Leave a comment

Cancel reply