Shakib Al Hasan
दिग्गज ऑलराउंडर शाकिब अल हसन के खिलाफ जांच करेगा BCB, स्पॉन्सरशिप डील से जुड़ा है मामला

बांग्लादेश (Bangladesh) क्रिकेट टीम के दिग्गज ऑलराउंडर शाकिब अल हसन (Shakib Al Hasan) विवादों में फंसते हुए नज़र आ रहे हैं. बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (BCB) ने एक ‘सट्टेबाजी’ कंपनी के समर्थन में की गई उनकी हालिया सोशल मीडिया पोस्ट की जांच करने का फैसला किया है. उन्होंने हाल ही में ‘बेटविनर न्यूज’ नाम की कंपनी के साथ साझेदारी का ऐलान किया था.

बता दें कि बांग्लादेश के वर्तमान नियमों के मुताबिक, सट्टे से जुड़ी किसी भी तरह की गतिविधि को बढ़ावा देना या उसका समर्थन करना निषेध है.

बीसीबी अध्यक्ष नजमुल हसन ने क्रिकबज के साथ हुई खास बातचीत में कहा कि वे हसन को स्पॉन्सरशिप के डील को बोर्ड के साथ साझा नहीं करने के लिए नोटिस भेजेंगे.

बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष ने कहा, “हम इस ऑलराउंडर की हाल में सोशल मीडिया पर डाली गई, उस पोस्ट की जांच करेंगे, जिसमें उन्होंने ‘‘बेटविनर न्यूज’’ नामक कंपनी के साथ अपनी साझेदारी की घोषणा की थी.”

नजमुल ने कहा, “दो चीजें हैं. सबसे पहले तो अनुमति का कोई मौका नहीं है. हम उन्हें अनुमति देंगे ही नहीं. अगर सट्टेबाजी से संबंधित कुछ भी चीजें हैं, तो हम उन्हें बिल्कुल अनुमति नहीं देंगे. उन्होंने इससे संबंधित हमसे किसी भी प्रकार की अनुमति नहीं मांगी है. दूसरा, यह कि क्या उन्होंने वास्तव में किसी डील के लिए हस्ताक्षर किया है या नहीं.”

उन्होंने आगे कहा, “बैठक में, मुद्दा उठाया गया था और हमने कहा कि यह कैसे हो सकता है, क्योंकि यह असंभव है. अगर ऐसा होता है तो उससे तुरंत पूछें. उसे नोटिस दें और उससे पूछें कि यह कैसे हुआ, क्योंकि बोर्ड इसकी अनुमति नहीं देगा. यदि यह संबंधित है, हम शर्त लगाते हैं कि हम इसकी अनुमति नहीं देंगे. हमने आज कहा है.”

गौरतलब है कि शाकिब ने लगभग 400 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मुकाबलों में 12,000 से अधिक रन बनाए हैं और लगभग 650 विकेट चटकाए हैं. याद हो कि अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) ने 2019 में भारतीय सट्टेबाज की भ्रष्ट पेशकश की रिपोर्ट नहीं करने पर बांग्लादेशी खिलाड़ी पर एक साल का बैन लगाया था.

यह भी पढ़ें – ‘एकदिवसीय क्रिकेट के आगे टी20 कुछ भी नहीं है’ बांग्लादेश के धाकड़ ओपनर का बयान

Q. शाकिब अल हसन ने कितने अंतर्राष्ट्रीय मैच खेले हैं?

A. 383

Leave a comment

Cancel reply