babar rizwan cricket
टी20 इंटरनेशनल टीम ऑफ द ईयर 2021 कौन सी?

कोविड-19 (Covid-19) के प्रकोप के बावजूद 2021 का साल टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट (International Cricket) के लिए बड़ा ख़ास रहा, क्योंकि सख्त बायो- बबल में रुका हुआ आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप (ICC T20 World Cup) आयोजित कर पाए। साल के दौरान मैच की गिनती के अगर रिकॉर्ड बने तो इससे रन और विकेट के कई नए रिकॉर्ड देखने को मिले। ऐसा नहीं है कि सिर्फ दिग्गज चमके, नए टैलेंट ने भी चुनौती दी, इसीलिए अगर टीम ऑफ़ द ईयर बनाते हैं तो विराट कोहली, रोहित शर्मा, क्रिस गेल और गुप्टिल, जैसे बड़े नाम को चुनौती मिलती है। चलिए बनाते हैं टीम ऑफ द ईयर :

ओपनर: पहला नाम मोहम्मद रिजवान का होगा- अगर साल के दौरान टी 20 इंटरनेशनल में 1000 रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज़ बने तो टी 20 क्रिकेट में 2000 रन बनाने वाले भी पहले बल्लेबाज। टी 20 इंटरनेशनल में कुल रिकॉर्ड : 29 मैचों में 73.66 औसत से 1326 रन, जिसमें टी 20 वर्ल्ड कप में तीसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी थे, 70.25 औसत से और इस दौरान 281 रन बनाए। बाबर आजम ने खुद तो 29 मैच में 37.56 औसत से 939 रन बनाए ही, रिजवान के साथ जबरदस्त जोड़ी बनाई और 6 सेंचुरी पार्टनरशिप का रिकॉर्ड बनाया। इन दोनों के होते हुए कोई ‘खिचड़ी’ जोड़ी क्यों बनाएं?

बल्लेबाज़: ऑस्ट्रेलिया के मिचेल मार्श ने कुछ प्रभावशाली पारियां खेली, जिनमें सबसे ख़ास है टी 20 वर्ल्ड कप में ऑस्ट्रेलिया की कामयाबी में योगदान- रिकॉर्ड रहा 21 मैच में 627 रन, जो ऑस्ट्रेलिया के लिए सबसे ज्यादा रहे। न्यूजीलैंड के विरुद्ध वर्ल्ड कप फाइनल में 50 गेंदों पर 77 रन को हमेशा याद किया जाएगा। मार्टिन गुप्टिल ने 18 मैच में 627 रन बनाए, 2021 उनके लिए काफी अच्छा साल रहा है। वे उन दिग्गज में से एक हैं, जो अपना सम्मान बचा सके। जोस बटलर में जीतने की भूख बरकरार है और जहां वर्ल्ड कप में 89.67 औसत से 269 रन बनाए, कुल 14 इंटरनेशनल मैचों में 65.44 औसत और 143.30 स्ट्राइक रेट से 589 रन बनाए। एक नाम महमुदुल्लाह का जरूर होना चाहिए, वर्ल्ड कप में 8 मैचों में 28.17 औसत से 169 रन तथा कुल 26 मैचों में 23.61 औसत से 496 रन। उनकी सबसे बड़ी खूबी थी जरूरत में रन बनाना।

ऑलराउंडर: पहला नाम शाकिब अल हसन का होगा, किसी भी टीम में जगह के हकदार और बांग्लादेश को सुपर 12 राउंड में पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। अगर क्वालीफाइंग राउंड में 20, 42 और 46 के स्कोर तो टूर्नामेंट में 6 मैचों में 11 विकेट भी। ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध टी 20 सीरीज में सबसे कामयाब खिलाड़ी थे, 5 मैचों में 114 रन और 7 विकेट।

गेंदबाज़: वानिंदु हसरंगा का नाम हैरान कर सकता है, लेकिन सबसे ज्यादा चचमके टैलेंट में से एक रहे। टी 20 वर्ल्ड कप के दौरान सनसनीखेज रिकॉर्ड- 8 मैचों में 9.87 औसत से 16 विकेट, जो टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा विकेट का रिकॉर्ड है, जिसमें हैट्रिक शामिल है। बीच के ओवरों में रन रेट रोका, इस समय विश्व क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ स्पिनरों में से एक और ICC T20 रैंकिंग में नंबर एक। इसी तरह तबरेज़ शम्सी गजब की फॉर्म में हैं। बाएं हाथ के चाइनामैन गेंदबाज, तबरेज़ टी 20 इंटरनेशनल में दक्षिण अफ्रीका का सबसे बड़ा दांव रहे- ICC रैंकिंग में नंबर दो गेंदबाज, 2021 में दूसरे सबसे अधिक विकेट और कुल रिकॉर्ड- 22 मैचों में 13.36 औसत से 36 विकेट। मुस्तफिजुर रहमान तेज गेंदबाजी में सबसे बड़ा दांव रहे और ख़ास मौकों पर विकेट लिए, इस साल टी 20 इंटरनेशनल में पांचवे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज (17.39 औसत से 28 विकेट)। हसन अली वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के लिए ख़ास नहीं चमके पर पूरे साल को देखें तो कामयाब थे- 18 मैच खेले और 19.28 औसत से 25 विकेट।

Leave a comment

Cancel reply