Virat Kohli
क्या सौरव गांगुली का विराट कोहली को कप्तानी से इस तरह हटाना ठीक है?

भारतीय क्रिकेट के लिए पिछले कुछ दिन अच्छे नहीं गुजरे हैं, जब से भारतीय क्रिकेट टीम से विराट कोहली की वनडे कप्तानी छीन ली गई है उसके बाद तो भारतीय क्रिकेट में अंदर ही अंदर एक बड़ा और नया विवाद पनप रहा है। जो अब तो खुलकर सामने आ गया है। पिछले ही दिनों विराट कोहली को वनडे कप्तानी से हटाकर रोहित शर्मा को नया कप्तान नियुक्त किया गया है।

वनडे कप्तानी से जाने के बाद विराट कोहली के खुलासे

विराट कोहली खुद तो कप्तानी छोड़ना नहीं चाहते थे, लेकिन बीसीसीआई ने उन्हें वनडे कप्तानी से हटाने का बड़ा कदम उठाया। इसके बाद से ही भारतीय टीम के सीमित ओवरों के पूर्व कप्तान विराट कोहली, जिन्होंने अपनी तक चुप्पी साधी हुई थी, उन्होंने आखिरकार अपना मुंह खोला और कई लोगों को गलत साबित कर दिया।

दक्षिण अफ्रीका दौरे पर रवाना होने से पहले भारतीय क्रिकेट टीम के टेस्ट कप्तान विराट कोहली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में हिस्सा लिया, जहां उन्होंने मीडिया कर्मियों के सवालों के जवाब दिए, वहां उन्होंने बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली को ही गलत साबित कर दिया।

विराट कोहली ने दादा को किया गलत साबित

विराट कोहली को वनडे कप्तानी से हटाने के बाद सौरव गांगुली ने मीडिया के सामने आकर अपनी बात रखी थी, जहां दादा ने विराट कोहली को टी20 कप्तानी नहीं छोड़ने के लिए मनाने की बात कही थी, लेकिन विराट कोहली ने तो सौरव गांगुली के इस बयान को गलत साबित करते हुए साफ शब्दों में कह दिया कि उनसे कभी किसी बीसीसीआई के अधिकारी ने कप्तानी छोड़ने से रोकने, जैसी बात नहीं कही थी।

टेस्ट कप्तान विराट कोहली ने इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में एक से एक खुसासे किए, जिसमें उन्होंने दादा के बयान वाले सवाल के जवाब को देते हुए कहा, “मुझे कभी भी नहीं कहा गया था कि आप टी20 कप्तानी मत छोड़िए. बल्कि मेरे इस फैसले को प्रोग्रेस के तौर पर स्वीकार किया गया था। टेस्ट टीम के चयन से महज डेढ़ घंटे पहले मुझे 8 दिसंबर को संपर्क किया गया था। उससे पहले टी20 कप्तानी पर मुझसे किसी ने भी बात नहीं की थी।” इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में विराट कोहली ने और भी कई सवालों के जवाब दिए, जिनमें उन्होंने साफ किया कि वो केवल अपनी इच्छा से टी20 फॉर्मेट में ही कप्तानी छोड़ना चाहते हैं, तो वहीं वो वनडे और टेस्ट में कप्तानी जारी रखना चाहते हैं। विराट ने बताया कि चयनकर्ताओं ने उनसे दक्षिण अफ्रीका दौरे के टीम चयन वाले दिन ही बताया कि वो रोहित शर्मा को वनडे कप्तानी देना चाहते हैं, जिस पर उन्होंने कोई परेशानी नहीं होने की बात कही।

सौरव गांगुली ने दिया था ये बयान

कोहली को वनडे फॉर्मेट की कप्तानी से हटाने के बाद सौरव गांगुली ने एक बयान दिया था, जिसमें उन्होंने बताया था कि उन्होंने विराट से टी20 की कप्तानी नहीं छोड़ने की अपील की थी। दादा ने तब कहा था, “उन्होंने व्यक्तिगत तौर पर विराट कोहली से टी20 की कप्तानी नहीं छोड़ने का आग्रह किया था, लेकिन वर्कलोड के कारण उन्होंने ऐसा किया, जो कि ठीक था एक खिलाड़ी के तौर पर मैं समझ सकता हूं। वे एक शानदार और बड़े खिलाड़ी हैं। ऐसा लाजमी है।” सौरव गांगुली ने तो विराट कोहली को कप्तानी ना छोड़ने की अपील करने वाली बात कही हो, लेकिन अब जिस तरह से विराट कोहली ने इस मामले को लेकर अपनी बात रखी है, उससे ये साफ होता है कि कहीं ना कहीं दादा पूरे मामले को लेकर स्पष्ट नहीं है, क्योंकि उनके उस बयान की कोहली के इस बयान ने गलत साबित कर दिया है।

Leave a comment

Cancel reply