टॉप 5 टीमें, जिन्होंने टी20 विश्वकप में जीते हैं सर्वाधिक मुकाबले

16 अक्टूबर से 13 नवंबर तक ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर टी20 विश्वकप 2022 (T20 World Cup) खेला जाएगा। इस मेगा इवेंट में हिस्सा लेने वाले लगभग सभी 16 देशों ने अपनी टीम का ऐलान कर दिया है। 16 में से 8 टीमों ने सीधे सुपर 12 स्टेज के लिए क्वालीफाई किया है, जबकि बाकी 8 टीमों को दो ग्रुप में बांटा गया है, जिनके बीच 16 से 21 अक्टूबर तक ग्रुप स्टेज के मैच खेले जाएंगे। दोनों ग्रुप्स की टॉप दो टीमें सुपर 12 में पहुचेंगी। बता दें कि फाइनल और सेमीफाइनल्स मिलाकर इस बार टी20 विश्वकप में कुल 45 मैच खेले जाएंगे।

सुपर 12 स्टेज के लिए क्वालीफाई कर चुकी टीमें –

अफगानिस्तान, न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, भारत, दक्षिण अफ्रीका, बांग्लादेश, पाकिस्तान।

ग्रुप स्टेज खेलने वाले टीमें –

ग्रुप ए – नामीबिया, नीदरलैंड्स, श्रीलंका, यूएई

ग्रुप बी – आयरलैंड, स्कॉटलैंड, वेस्टइंडीज, ज़िम्बाब्वे

टी20 विश्वकप का आयोजन पहली बार 2007 में किया गया था और इस बार इसका आठवां संस्करण खेला जाएगा। आज हम आपको इस मल्टी नेशन टूर्नामेंट में सर्वाधिक मुकाबले जीतने वाली टीमों के बारे में बताएंगे। तो चलिए नजर डालते हैं टी20 विश्वकप में सर्वाधिक मैच जीतने वाली टॉप 5 टीमों पर –

5 – दक्षिण अफ्रीका –

दक्षिण अफ्रीका की टीम ने एक भी बार टी20 विश्वकप का ख़िताब नहीं जीता है। यहां तक कि वे इस टूर्नामेंट के फाइनल में भी नहीं पहुंच पाए हैं। मगर उनका जीत प्रतिशत काफी बेहतरीन है। प्रोटियाज़ टीम ने टी20 विश्वकप में अब तक 35 मैच खेले हैं, जिनमें से 22 में उन्हें जीत मिली, जबकि 13 मुकाबलों में हरी जर्सी वाली टीम को शिकस्त झेलनी पड़ी है। उनका जीत प्रतिशत 62.85 है।

4 – ऑस्ट्रेलिया –

ऑस्ट्रेलिया टी20 विश्वकप 2022 की डिफेंडिंग चैंपियन है। उन्होंने 2021 में यूएई में खेले गए टी20 विश्वकप 2021 के फाइनल में न्यूजीलैंड को पटखनी देकर पहली बार ख़िताब अपने किया था। कंगारू टीम इससे पहले 2010 में भी फाइनल में पहुंची थी। मगर उस समय उन्हें इंग्लैंड के हाथों हार झेलनी पड़ी थी। पीली जर्सी वाली टीम ने 20 ओवर प्रारूप के विश्वकप में अब तक 36 मैच खेले हैं और 22 में जीत हासिल की है। वहीं, 14 मुकाबलों में उन्हें शिकस्त का सामना करना पड़ा है। टी20 विश्वकप में ऑस्ट्रेलिया का जीत प्रतिशत 61.11 है।

3 – भारत –

2007 में पहली बार आयोजित हुए खेल के सबसे छोटे प्रारूप के विश्वकप को भारत ने जीता था। हालांकि, इसके बाद फिर कभी नीली जर्सी वाली टीम इस ख़िताब को अपने नाम करने में सफल नहीं हो सकी। 2014 में वे फाइनल तक पहुंचे थे, लेकिन वहां उन्हें श्रीलंकाई टीम ने हरा दिया था। टीम इंडिया ने अब तक इस मेगा इवेंट में 38 मुकाबले खेले हैं और इनमें से 23 में उन्हें सफलता प्राप्त हुई, जबकि 14 में हार का सामना करना पड़ा। भारत का टी20 विश्वकप में जीत प्रतिशत 63.51 है।

2 – पाकिस्तान –

2010 में टी20 विश्वकप के तीसरे संस्करण के फाइनल मुकाबले में श्रीलंका को हराकर पाकिस्तान ने पहली बार यह ख़िताब जीता था। मगर वे अब तक दूसरी बार इस टूर्नामेंट को नहीं जीत सके हैं। हरी जर्सी वाली टीम ने टी20 विश्वकप में 40 मैच खेले हैं, जिसमें से 24 में उन्हें जीत मिली और 15 में हार का सामना करना पड़ा है। इस दौरान पाकिस्तान का जीत प्रतिशत 61.25 का रहा।

1 – श्रीलंका –

श्रीलंकाई टीम ने 2014 में टी20 विश्वकप जीता था। हालांकि, वे इसके अलावा दो बार और इस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचे थे मगर उन्हें वहां हार झेलनी पड़ी। 2010 में उन्हें पाकिस्तान के खिलाफ तो वहीं 2012 में वेस्टइंडीज के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था। इसके बावजूद श्रीलंका इस टूर्नामेंट में सर्वाधिक मुकाबले जीतने वाली टीम है। उन्होंने अबतक खेल के सबसे छोटे प्रारूप के विश्वकप में 43 मैच खेलते हुए 27 में जीत हासिल की है, जबकि 15 में उन्हें शिकस्त का सामना करना पड़ा। टी20 विश्वकप में श्रीलंकाई टीम का जीत प्रतिशत 63.95 है।

Q. सर्वाधिक बार टी20 विश्वकप किस देश ने जीता है?

A. वेस्टइंडीज

Leave a comment

Cancel reply