pandya and waugh brothers
क्रिकेट जगत में धमाल मचाने वाले सगे भाइयों की जोड़ियां, क्या इनसे वाकिफ हैं आप?

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपने देश के लिए खेलना गर्व की बात होती है। यह एक ऐसा मंच होता है, जहां से दुनिया उन्हें देख रही होती है। अगर वे कोई कारनामा कर दिखाते हैं तो हमेशा के लिए अपनी पहचान छोड़ देते हैं। वहीं, जब दो सगे भाई ही देश के लिए खेलते हुए नजर आ जाते हैं तो ये अपने आप में एक अनोखी बात बन जाती है। दुनियाभर के स्पोर्ट्स में सगे भाई-बहनों का जलवा देखा गया है। फिर चाहे वो टेनिस हो, फुटबॉल हो, कुश्ती हो या फिर कोई और स्पोर्ट्स। कुछ इसी तरह क्रिकेट जगत भी है, जहां सगे व जुड़वा भाइयों की जोड़ियों का हमेशा टशन देखने को मिला है। आज क्रिकेट जगत की दुनिया में ऐसे कई भाइयों की जोड़ियां हैं, जो अपने देश का प्रतिनिधित्व कर रही हैं। वहीं, कई जोड़ियां ऐसी भी हैं, जो क्रिकेट की दुनिया से पहले ही संन्यास ले चुकी हैं। हम आपको ऐसे ही सगे भाइयों के बारे में बताने जा रहे हैं।

हार्दिक और क्रुणाल पंड्या

हार्दिक और क्रुणाल दोनों ही भारतीय टीम के लिए खेल चुके हैं। ये दोनों आईपीएल में भी एक साथ खेले हैं। वर्तमान में क्रिकेट की दुनिया में दोनों ही भारतीय टीम के बेहतरीन और सक्रिय खिलाड़ी हैं। क्रुणाल की बात करें तो उन्होंने अब तक कुल 19 अंतरराष्ट्रीय ट्वेंटी-20 मैच 2018 से लेकर 2021 के बीच खेले हैं। उन्होंने कुल 124 रन बनाए, जिनमें 26 उनका उच्च स्कोर है। वहीं गेंदबाजी में उन्होंने 15 विकेट चटकाए हैं, जिसमें 36 रन देकर चार विकेट उनका बेस्ट है। हार्दिक पांड्या ने अब तक 73 टी-20 मैचों की 54 पारियों में 989 रन बनाए हैं। 71 उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर है। गेंदबाजी में उन्होंने 54 विकेट झटके हैं, जिनमें 33 रन देकर चार विकेट झटकना बेस्ट है।

इयान और ग्रेग चैपल

गुजरे जमाने के सबसे बेहतरीन क्रिकेट खेलने वाले भाइयों की बात आती है तो इयान और ग्रेग चैपल का नाम लेना बनता ही है। इन दोनों भाइयों ने ऑस्ट्रेलिया को कई मैच जिताए हैं। इयान चैपल ने 75 टेस्ट मैचों में 5345 रन बनाए हैं। 16 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में उन्होंने 673 रन बनाए हैं। उनके छोटे भाई ग्रेग चैपल भी कंगारू टीम के दमदार बल्लेबाज रहे हैं। उन्होंने 71 टेस्ट मैच खेले हैं और 7110 रन बनाए हैं। ग्रेग सौरव गांगुली के वक्त में भारतीय टीम के कोच भी रह चुके थे।

मार्क और स्टीव वॉ

क्रिकेट जगत में जुड़वा भाइयों के रूप में पहचाने जाने वाले मार्क वॉ और स्टीव वॉ ने एक साथ कई मैच खेले हैं। 1988 से लेकर 2002 तक सक्रिय रहे ऑलराउंडर मार्क वॉ टीम के सलामी बल्लेबाज के रूप में उतरते थे। उन्होंने 128 टेस्ट मैचों में 8029 रन बनाए और 59 विकेट झटके हैं। वनडे के 244 मैचों में 8500 रन बनाए और 85 विकेट झटके हैं। वहीं, 1985 से लेकर 2004 तक सक्रिय रहे स्टीव वॉ कंगारू टीम के कप्तान भी रह चुके हैं। वह टीम के हरफनमौला खिलाड़ी थे। उन्होंने 168 टेस्ट मैचों में 10,927 रन बनाए हैं और 92 विकेट झटके हैं। वह मीडियम पेसर गेंदबाज की भूमिका निभाते थे। वनडे में उन्होंने 195 विकेट लिए और 7569 रन बनाए हैं। वह हमेशा मध्यक्रम में ही बल्लेबाजी के लिए उतरते थे।

शॉन और मिशेल मार्श

ऑस्ट्रेलिया में कई भाइयों को एकसाथ अंतरराष्ट्रीय मैचों में देश का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला है। सलामी बल्लेबाज शॉन मार्श 2008 से लेकर 2019 तक कंगारू टीम में सक्रिय रहे। उन्होंने 38 टेस्ट मैचों की 68 पारियों में 2265 रन बनाए हैं, जिसमें छह शतक व 10 अर्धशतक शामिल हैं। 15 टी-20 मैचों में उन्होंने 255 रन बनाए हैं। साथ ही 73 वनडे मैचों में 2773 रन बनाए हैं, जिसमें सर्वोच्च 151 रनों का स्कोर है। मिशेल मार्श ने 40 टी-20 मैचों में 935 रन बनाए हैं, जिसमें 77 उच्च स्कोर है। 73 वनडे मैचों में 1734 रन, जिसमें एक शतक व 12 पचासे हैं। 32 टेस्ट मैचों में 1260 रन बनाए, जिसमें दो शतक व तीन अर्धशतक शामिल हैं।

एंडी और ग्रांट फ्लॉवर

बाएं हाथ के बल्लेबाज एंडी फ्लॉवर जिम्बाब्वे के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर रह चुके हैं। वह 1992 से लेकर 2003 तक क्रिकेट में एक्टिव रहे। उन्होंने 63 टेस्ट मैचों में कुल 4,794 रन बनाए। टेस्ट में उन्होंने विकेटकीपर के तौर पर 142 कैच और 9 स्टम्पिंग की हैं। उन्होंने 213 वनडे मैचों में कुल 6786 रन बनाए। वनडे में विकेटकीपर के तौर पर 133 कैच और 32 स्टम्पिंग कीं। उनके छोटे भाई ग्रांट फ्लॉवर हैं, जो एक सलामी बल्लेबाज के तौर पर उतरते थे। 1992 से लेकर 2004 तक जिम्बाब्वे की टीम में सक्रियर रहे ग्रांट ने 67 टेस्ट मैच खेलते हुए 3,457 रन बनाए और 25 विकेट लिए हैं। उन्होंने 221 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मुकाबलों में 6571 रन बनाए और 104 विकेट लिए हैं।

नील जॉन और केविन ओ ब्रायन

आयरलैंड की भी ओर से दो सगे भाई नील जॉन और केविन ओ ब्रायन इंटरनेशनल क्रिकेट मैच खेल चुके हैं। नील जॉन बाएं हाथ के बल्लेबाज व विकेटकीपर हैं। उन्होंने 2007 के वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ 107 गेंदों पर 72 रनों की शानदार पारी खेली थी, जिसकी बदौलत आयरलैंड बड़ा उलटफेर करते हुए मैच जीत गया था। इसके लिए नील जॉन को मैन ऑफ द मैच घोषित किया गया था। उन्होंने 103 वनडे मैचों में 2581 रन बनाए हैं। टी-20 में उन्होंने 30 मैचों में 466 रन बनाए। उनके भाई केविन ओ ब्रायन हरफनमौला खिलाड़ी हैं। उन्होंने 153 वनडे मैचों में 3619 रन बनाए। गेंदबाजी के आंकड़े देखें तो 114 विकेट झटके हैं। टी-20 के 110 मैचों में उन्होंने 58 विकेट झटके और 103 पारियों में कुल 1973 रन बनाए हैं।

कामरान और उमर अकमल

क्रिकेट ब्रदर्स के मामले में पाकिस्तान भी पीछे नहीं है। वहां के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज कामरान अकमल ने 53 टेस्ट, 157 वनडे और 58 टी-20 के अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं। उन्होंने टेस्ट में 2648, वनडे में 3236 और टी20 में कुल 73 रन बनाए। वहीं उनके भाई उमर अकमल ने 16 टेस्ट, 121 वनडे और 84 टी-20 इंटरनेशनल मैच खेले हैं।

Leave a comment

Cancel reply