icc t20 wc 2021 crictoday
T20 World Cup 2021: 4 प्लेयर्स सिलेक्शन, जिसकी वजह से भारतीय टीम को मिलेगी हार!

भारतीय क्रिकेट चयनकर्ताओं ने इस साल खेले जाने वाले आईसीसी टी20 विश्व कप के लिए बुधवार को अपनी 15 सदस्यीय टीम का ऐलान कर दिया. टीम में धाकड़ सलामी बल्लेबाज शिखर धवन को नहीं चुना गया, जबकि दिग्गज ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन टी20 टीम में वापसी करने में सफल रहे. हालांकि, युवा लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल और टीम इंडिया के इकलौते चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव की टीम से छुट्टी कर दी गई.

टी20 विश्व कप 2021 की शुरुआत 17 अक्टूबर से होगी, जबकि इसका फाइनल मुकाबला 14 नवंबर को खेला जाएगा. टीम इंडिया 24 अक्टूबर को पाकिस्तान के खिलाफ मुकाबले से अपने अभियान की शुरुआत करेगी.

बहरहाल, अब हम ऐसे 4 प्लेयर्स सिलेक्शन पर नज़र डालेंगे, जो आगामी टी20 विश्व कप में भारतीय टीम की हार का कारण बन सकते हैं. देखिए:

स्टार लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल को टी20 टीम में जगह नहीं मिलना

स्टार लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल को टी20 टीम में जगह नहीं मिलना.

भारतीय टीम के युवा लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल को ‘चतुर’ गेंदबाजी के लिए जाना जाता है. उनका टीम इंडिया में शामिल नहीं होना टी20 विश्व कप 2021 में नीली जर्सी वाली टीम के लिए घाटे का सौदा साबित हो सकता है, क्योंकि टी20 आई में उनका रिकॉर्ड बेहद शानदार है. चहल के नाम 49 मुकाबलों में 63 विकेट हैं. उन्होंने पारी में 2 बार चार विकेट और 1 बार पांच विकेट भी चटकाए हैं. चहल का सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शन 25 रन देकर 6 विकेट रहा है. वे टी20 आई मैच की एक पारी में 6 विकेट चटकाने वाले दुनिया के चुनिंदा गेंदबाजों में से एक हैं.

इतना ही नहीं, वे टी20 अंतर्राष्ट्रीय में सर्वाधिक विकेट झटकने वाले भारतीय गेंदबाज भी हैं. ऐसे में चहल का इस टीम में नहीं चुना जाना वाकई में हैरान करने वाला है.

धाकड़ ओपनर शिखर धवन को भी नहीं किया गया टी20 टीम में शामिल

धाकड़ ओपनर शिखर धवन को भी नहीं किया गया टी20 टीम में शामिल.

भारतीय टीम के धाकड़ सलामी बल्लेबाज शिखर धवन की अनदेखी आईसीसी टी20 विश्व कप 2021 में टीम इंडिया के लिए भारी पड़ सकती है. धवन ने पिछले कुछ सालों में बेहद शानदार प्रदर्शन किया है. उन्होंने आईपीएल 2020 में दिल्ली कैपिटल्स के लिए 17 मुकाबलों में 44.14 के औसत और 144.73 के स्ट्राइक रेट से 618 रन बनाए थे. इस दौरान उन्होंने 2 शतक और 4 अर्धशतक भी जड़े थे. इतना ही नहीं, आईपीएल 2021 के पहले चरण में भी धवन ने लाजवाब प्रदर्शन किया, जहां उन्होंने 8 मुकाबलों में 54.28 के औसत और 134.27 के स्ट्राइक रेट से 380 रन बनाए. इस दौरान उन्होंने 3 अर्धशतक जमाए.

यहां तक कि उनका टी20 अंतर्राष्ट्रीय रिकॉर्ड भी बेहद शानदार है. बाएं हाथ के इस ओपनर ने 67 टी20 आई मुकाबलों में 27.92 के औसत और 126.36 के स्ट्राइक रेट से 1759 रन बनाए हैं. उन्होंने 9 अर्धशतक भी लगाए हैं. गब्बर के इस जबरदस्त रिकॉर्ड और फॉर्म को देखते हुए उन्हें टीम में ज़रूर मौका मिलना चाहिए था. हालांकि, यह बात अलग है कि भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कुछ समय पहले टी20 विश्व कप 2021 में ओपनिंग करने के लिए बोला था.

स्टार तेज गेंदबाज दीपक चाहर पर मोहम्मद शमी को तरजीह मिलना

स्टार तेज गेंदबाज दीपक चाहर पर मोहम्मद शमी को तरजीह मिलना.

टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज और मौजूदा समय में दिग्गज क्रिकेट कमेंटेटर आकाश चोपड़ा ने टीम इंडिया के स्टार तेज गेंदबाज दीपक चाहर को टी20 विश्व कप के लिए भारतीय टीम में शामिल नहीं किए जाने पर हैरानी जताई. साथ ही उन्होंने कहा कि वे धाकड़ पेसर मोहम्मद शमी पर दीपक चाहर को वरीयता देते. आकाश ने कहा, “दीपक नई गेंद के साथ विकेट झटकते हैं. चहल और दीपक दोनों के नहीं होने से मुझे आश्चर्य है. दीपक कभी भी आपको विकेट दिला सकते हैं और अब तक कभी उन्होंने भारत के लिए खराब प्रदर्शन नहीं किया है. मैं मोहम्मद शमी और दीपक के बीच मैं चाहर को ही चुनता.” बता दें कि दीपक चाहर ने 14 टी20 आई मुकाबलों में 20 विकेट चटकाए हैं.

बांग्लादेश के खिलाफ साल 2019 में नागपुर के विदर्भ क्रिकेट स्टेडियम में खेले गए सीरीज के तीसरे टी20 आई मुकाबले में दीपक चाहर ने हैट्रिक जमाई थी. उन्होंने मैच में 3.2 ओवर्स में महज 7 रन देकर हैट्रिक समेत 6 विकेट झटके थे. यह प्रदर्शन टी20 इंटरनेशनल में किसी भी गेंदबाज का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है. दीपक पारी की शुरुआत में विकेट चटकाने की काबिलियत रखते हैं. चाहर यूएई की कंडीशंस में भारत के लिए शानदार प्रदर्शन कर सकते थे. वहीं, मोहम्मद शमी ने 12 टी20 आई मुकाबलों में महज 12 विकेट चटकाए हैं. इस लिहाज से चाहर शमी पर भारी पड़ रहे हैं.

टीम इंडिया में ‘चौथे क्रम के’ धाकड़ बल्लेबाज श्रेयस अय्यर का शामिल नहीं होना

टीम इंडिया में ‘चौथे क्रम के’ धाकड़ बल्लेबाज श्रेयस अय्यर का शामिल नहीं होना.

भारतीय टीम के दाएं हाथ के बल्लेबाज श्रेयस अय्यर को टी20 विश्व कप 2021 की टीम में जगह नहीं मिल पाई, क्योंकि वे चोटिल होने की वजह से पिछले काफी समय से क्रिकेट नहीं खेल पाए हैं. हालांकि, वे अब पूरी तरह से फिट हैं और आईपीएल 2021 के दूसरे चरण में खेलते हुए नजर आएंगे. दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने टी20 आई में चौथे क्रम पर बल्लेबाजी करते हुए 8 मुकाबलों में 50 के औसत और 151.52 के स्ट्राइक रेट से 250 रन बनाए हैं. इस दौरान उनका उच्चतम स्कोर 62 रन रहा है. अगर अय्यर के ओवरऑल टी20 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट करियर की बात करें तो उन्होंने 26 मुकाबलों में 28.95 के औसत और 133.82 के स्ट्राइक रेट से 550 रन बटोरे हैं. इस फोर्मेट में चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए अय्यर का औसत सबसे बहतरीन है. यह मामला नया नहीं है, जब आईसीसी के मेजर टूर्नामेंट के लिए भारतीय टीम में चौथे क्रम के सबसे बेहतरीन बल्लेबाज को शामिल नहीं किया गया हो.

इससे पहले आईसीसी विश्व कप 2020 में भी यही मामला देखने को मिला था, जब पूर्व मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने दिग्गज बल्लेबाज अंबाती रायडू के स्थान पर ऑलराउंडर विजय शंकर को ‘थ्री डी’ वाला खिलाड़ी बताकर टीम इंडिया में शामिल किया था. विश्व कप में भारतीय टीम को इसका खामियाजा भी भुगतना पड़ा था, क्योंकि नीली जर्सी वाली टीम को इस क्रम के लिए अपने सबसे बेहतरीन बल्लेबाज की कमी खली थी और भारत को इस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में हार के बाद बाहर होना पड़ा था. उस दौरान रायडू वनडे में टीम इंडिया के लिए चौथे क्रम पर सबसे अच्छा औसत रखने वाले बल्लेबाज थे. इस बार भी वैसा ही मामला सामने आ रहा है. अब देखने वाली बात यह होगी कि अय्यर की कमी भारतीय टीम की चिंता को बढ़ाएगी या नहीं?

Leave a comment

Cancel reply