ipl 2021 crictoday

तो आखिरकार अब ऐसा लग ही रहा है कि इस बार तो बीसीसीआई अपना आईपीएल में दो नई टीम जोड़ने का प्रोजेक्ट पूरा कर ही लेगा। बोर्ड ने तो आईपीएल 2021 के साथ ही दो नई टीम जोड़ने की स्कीम शुरू कर दी थी पर, जब आईपीएल रुका तो नई टीम वाली स्कीम भी रुक गई। उसके बाद पहली वरीयता थी अधूरे टूर्नामेंट को पूरा करना। अब अधूरा टूर्नामेंट दूसरे राउंड के साथ शुरू होने वाला है तो बोर्ड ने भी बिना देरी दो नई टीम जोड़ने की स्कीम भी शुरू कर दी।

आखिरकार, अब देरी के लिए समय कहां बचा है, आईपीएल का मेगा ऑक्शन होना है अगले सीजन से पहले और नए टीम मालिकों को भी तो अपनी टीम की ग्रांउड के साथ साथ कमर्शियल कामयाबी को पटरी पर लाने के लिए समय चाहिए।

इस समय 8 टीम खेल रही हैं आईपीएल में और नई टीम जोड़ते हुए बोर्ड की कोशिश है कि टीमों के रीजनल प्रतिनिधित्व का असंतुलन दूर करें, इसीलिए नई टीम बनाने के लिए जो 6 शहर बोर्ड ने चुने उनके साथ रीजनल असंतुलन और कमर्शियल नज़रिए को भी ध्यान में रखा। 6 शहर, जिनमें से कोई दो नई टीम बनाएंगे उनमें गुवाहाटी, रांची, कटक (ईस्ट जोन), अहमदाबाद (वेस्ट जोन), लखनऊ (सेंट्रल जोन) और धर्मशाला (नोर्थ जोन)। स्पष्ट है हिंदी भाषी रीजन में क्रिकेट की लोकप्रियता को माना है। नई टीम इनमें से किसी भी शहर से बने, उसे चाहने वालों की भीड़ पहले दिन से मिल जाएगी। नई टीम के लिए 2000 करोड़ रुपये का बेस प्राइस तय किया है यानि कि ऑन लाइन बोली इस रकम से शुरू होगी। बोली में वही हिस्सा ले सकेगा, जिसने 10 लाख रूपए की कीमत का टेंडर डॉक्यूमेंट खरीदा हो।

अभी तक बोर्ड के सूत्रों से किसी के भी टेंडर डॉक्यूमेंट खरीदने की खबर को जारी नहीं किया गया है, लेकिन ये तय है कि दावेदारों ने तैयारी शुरू कर दी होगी, जो संकेत हैं उनके हिसाब से अहमदाबाद और लखनऊ टीम बनाने की रेस में सबसे आगे हैं, पर धर्मशाला आखिर में सभी को हैरान कर सकता है, जिस तरह से अनुराग ठाकुर की कोशिशें धर्मशाला को इंटरनेशनल क्रिकेट के नक़्शे पर ले आई हैं, वह किसी चमत्कार से कम नहीं है। अब अगर आईपीएल के साथ भी नाम जुड़ जाए तो ये इस पूरे रीजन में क्रिकेट को बढ़ावा दे देगा।

तो आसार यही हैं कि एक टीम अहमदाबाद की और दूसरी लखनऊ/ धर्मशाला की। अहमदाबाद की टीम इनमें से महंगी भी बन सकती है, न सिर्फ ये शहर अडानी ग्रुप की बदौलत चर्चित है, इसके राजनीतिक असर और विश्व के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम से बनी छवि को नज़रअंदाज़ नहीं किया जा सकता।

टीम बनाना अब कोई सस्ता सौदा नहीं रहा। आज कोई सोच भी नहीं सकता कि 2008 में कितनी कम कीमत पर आईपीएल टीम मिल गई थीं। उस नीलाम की सबसे सस्ती टीम राजस्थान रॉयल्स की कीमत पिछले वेल्यूएशन में 1850 करोड़ आंकी गई थी और उसी हिसाब से नई टीम के लिए बेस कीमत 2000 करोड़ तय की गई पर बोर्ड को उम्मीद है कि दोनों टीम की बिक्री से उन्हें कम से कम 5000 करोड़ रूपए तो जरूर मिलेंगे। तो तैयार रहिए दो नए शहरों को आईपीएल के नक़्शे पर देखने के लिए।

Leave a comment

Cancel reply