Rohit-sharma news
रोहित शर्मा- बोरीवली का लड़का, जिसके पास कभी क्रिकेट कोचिंग के लिए पैसे नहीं थे, आज मुंबई में सेलिब्रिटी है

सीधा सा परिचय तो ये है कि रोहित शर्मा, दाएं हाथ के बल्लेबाज, टीम इंडिया के लिए खेलते हैं और इस समय मुंबई इंडियंस और टीम इंडिया के ऑल फॉर्मेट कप्तान। वनडे डेब्यू 2007 में 20 साल की उम्र में और बाद में उसी साल पहला टी20 इंटरनेशनल खेला। टीम सेटअप में नियमित होने में देर लगी, लेकिन 2013 के बाद से लिमिटेड ओवर क्रिकेट में ऐसी पकड़ बनाई कि विराट कोहली की तरह टीम की जरूरत बन गए। टेस्ट करियर को नई पहचान मिली, जब ओपनर बने। क्या ऑल फॉर्मेट कप्तान बनना उनके बेहतर रिकॉर्ड का सबूत नहीं?

जन्म 30 अप्रैल 1987 को महाराष्ट्र के नागपुर में। स्कूली पढ़ाई स्वामी विवेकानंद इंटरनेशनल स्कूल और जूनियर कॉलेज, मुंबई और अवर लेडी ऑफ वेलंकन्नी हाई स्कूल, मुंबई से। वहीं दिनेश लाड से कोचिंग मिली और क्रिकेट करियर का ग्राफ ऐसा बना कि उसके बाद तो पीछे मुड़ कर ही नहीं देखा।

टॉप पर पहुंचने का ग्राफ

किसने सोचा था बोरीवली का ये छोरा 2015 में क्रिकेट वर्ल्ड कप में खेलेगा (ऑस्ट्रेलिया में- 8 मैच, एक शतक, 330 रन) और 2019 वर्ल्ड कप में तो 5 शतक बनाने वाला पहला बल्लेबाज बन जाएगा (टूर्नामेंट में 648 रन, टॉप रन-स्कोरर और आईसीसी गोल्डन बैट अवार्ड)। चेतेश्वर पुजारा की जगह, 2020 में ऑस्ट्रेलिया टूर के दौरान टेस्ट टीम के उप-कप्तान और जनवरी 2022 में, वेस्टइंडीज के विरुद्ध लिमिटेड ओवर सीरीज के लिए नियमित कप्तान, जिन पोस्ट पर अजिंक्य रहाणे और पुजारा जैसों का नाम लिखा आ रहा था वे उनके पास ऐसे आईं कि रोहित शर्मा के अतिरिक्त और कोई दावेदार तक नहीं था। क्रिकेट में टॉप पर आने का ऐसा ग्राफ बहुत कम को नसीब होता है।

यहां तक कि भारतीय क्रिकेट टीम की अगली आईसीसी ट्रॉफी जीतने की हसरत भी रोहित शर्मा के साथ जुड़ गई थी। इंग्लैंड ने टी20 वर्ल्ड कप 2022 के सेमीफाइनल में भारत को 10 विकेट से हरा दिया और ये हार कप्तान रोहित शर्मा के लिए कैसी थी इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि हार के बाद उनकी आंखों में आंसू थे। इस मुकाम पर पहुंच कर भी न जीतना उस क्रिकेटर के लिए बड़ी चुनौती है जिसने मुश्किलों का हमेशा सामना किया।

सवाल कई थे?

करियर कई सवालों से जुड़ा है। अगर रोहित के पिता की तंग हालत देखकर दादाजी ने पालने का फैसला न किया होता तो क्या होता? अगर उनके चाचा ने उन्हें क्रिकेट कैंप में भर्ती करने के लिए पैसे उधार न लिए होते तो क्या होता? अगर कैंप सेलेक्शन में गेंदबाज चुनने के लिए लाइन छोटी न होती तो क्या होता? अगर कोच ने उनका टैलेंट पहचान कर सपोर्ट न किया होता तो क्या होता? अगर नए स्कूल में डायरेक्टर ने स्कॉलरशिप दे कर रोका न होता तो क्या होता? अगर स्कूल बदलने पर रजामंदी न दी होती तो क्या होता?

वही रोहित शर्मा देश के कई करोड़ क्रिकेट प्रेमियों के सपने पूरे करने की उम्मीद बने। रोहित शर्मा उस दिन को भूलते नहीं जब ईडन गार्डन्स में श्रीलंका के विरुद्ध 1996 वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में भारत की टीम हारी, “उस शाम पूरा मोहल्ला सन्नाटे में था। सड़कों पर कोई नहीं था। मैंने कभी नहीं सोचा था कि कोई मैच ऐसा कुछ कर सकता है। इसी ने मुझे क्रिकेट को गंभीरता से लेने के लिए प्रेरित किया।”

आज रोहित शर्मा, उस दुनिया से जिसमें वे बड़े हुए, बहुत अलग दुनिया में हैं। हर चाल में एक क्रिकेट टीम थी और हफ्ते के आख़िरी दिनों में टूर्नामेंट होते थे। क्योंकि अच्छा खेलते थे इसलिए खेलने बुलाए जाते और हर मैच के 50-100 रुपये मिलते थे। सही ट्रेनिंग की जरूरत थी। कैंप ट्रायल्स में हर कोई बल्लेबाजी करना चाहता था और चूंकि गेंदबाजों की लाइन छोटी थी, इसलिए रोहित उसी लाइन में लग गए और सेलेक्शन भी हो गया। एक स्थानीय स्कूल के कोच (लाड) ने उन्हें खेलते देखा और बाकी इतिहास है।

एक के बाद एक मंजिल पार हो गईं, लिमिटेड ओवर से टेस्ट क्रिकेट और अक्टूबर 2019 में तो वे (दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध एक यादगार सीरीज के बाद) तीनों फॉर्मेट में आईसीसी रैंकिंग के टॉप 10 में पहुंचने वाले सिर्फ तीसरे भारतीय बल्लेबाज थे। रांची में तीसरे टेस्ट में 212 रन की पारी ने ये मुकाम हासिल करने में मदद दी थी।

इतना सब कुछ पर एक निराशा को वे कभी भूलते नहीं, 2011 वर्ल्ड कप जीतने वाली भारतीय टीम में नहीं आ पाए थे। अपने देश में वर्ल्ड कप और फाइनल अपने घरेलू ग्राउंड पर, लेकिन इसके लिए वे किसी को दोष नहीं देते।

बदल गए तभी चमके

जो उन्हें जानते हैं वे रोहित शर्मा में इन सब सालों में आए बदलाव को देखकर हंसते हैं। ऐसा लड़का जो अमिताभ बच्चन की ‘सूर्यवंशम’ को हर बार टेलीविजन पर देखने के लिए तैयार था, खुद सेलेब्रिटी बन गया। इस बदलाव में, रितिका सजदेह ने एक चतुर सेलिब्रिटी मैनेजर के तौर पर बड़ी ख़ास भूमिका निभाई।

रोहित के मिजाज में भी बड़ा बदलाव आया है- मुंबई इंडियंस की कप्तानी ने भी इसमें बड़ी भूमिका निभाई। रोहित के दोस्त और भारत के पूर्व क्रिकेटर अभिषेक नायर कहते हैं, रोहित अपने शुरुआती दिनों में छोटी सी बात पर ही उबल पड़ते थे। वहीं, कुछ साल बाद मुंबई की उन मशहूर हस्तियों में थे जिन्होंने ट्रांसपोर्ट ऑफिस से वीआईपी नंबर-प्लेट मांगी अपनी कार के लिए। तब अख़बारों में ऐसी मांग करने वालों में, मुकेश अंबानी और अमिताभ बच्चन के साथ उनकी फोटो भी छपी थी। कुछ साल बाद, फिर से एक बड़ा मुकाम तब आया जब अंबानी की मुंबई इंडियंस का नेतृत्व किया, टाइटल जीता और पेडर रोड पर, स्वागत के लिए इकट्ठी भीड़ में फिल्म, फाइनेंस और राजनीतिक दुनिया की मशहूर हस्तियां भी थीं।

दोस्तों के दोस्त

तब तक रोहित शर्मा खुद बोरीवली से वर्ली आ गए थे, यहीं है रोहित शर्मा का घर। दोस्त और इंटरनेशनल क्रिकेटर प्रज्ञान ओझा कहते हैं, उन दिनों का, देर रात- चौपाटी पर जूस और बाबुलनाथ के पास का डोसा भूलता नहीं। मिजाज बदलने में रोहित जब खुद पिता बने तो उस ड्यूटी ने भी मदद की। दोस्तों के लिए रोहित की ललक जगजाहिर है।

एक किस्सा बहुत कम लोग जानते हैं। एक बार दूसरी टीम के खिलाड़ियों के साथ एक टेनिस-बॉल क्रिकेट मैच खेलते झगड़ा हो गया। उबल पड़े रोहित और धमाकेदार बहादुरी के साथ भिड़ गए उनसे। पीछे मुड़कर देखा तो पता चला उनकी टीम के बाकी सब खिलाड़ी भाग गए थे। रोहित की बुरी तरह पिटाई हो गई और उसके बाद से फिर कभी टेनिस-बॉल क्रिकेट नहीं खेला।

ऐसा ही एक और किस्सा है। रोहित तब अपने दादा के घर में रहते थे और उस बिल्डिंग का गार्ड था विक्की। 2006 में, ऑस्ट्रेलिया गए इंडिया ए टीम के साथ तो वहां उन्हें पता चला कि विक्की को बिल्डिंग सोसायटी वालों ने काम से हटा दिया है (वजह- रोहित और उनके कुछ दोस्तों को मनाही के बावजूद बिल्डिंग की छत पर जाने दिया)। ऑस्ट्रेलिया से ही विक्की को फोन कर दिया कि कतई परेशान न हो और आज से ही उनके घर में विक्की की नौकरी पक्की। यहां तक कि जब रोहित शर्मा ने वर्ली में अपना अपार्टमेंट लिया तो उसमें विक्की के लिए भी एक कमरा रखा।

हैट्रिक है उनके नाम

रोहित शर्मा की बैटिंग के रिकॉर्ड तो खूब चर्चा में रहते हैं पर गेंदबाज के तौर पर उनके नाम एक ऐसा रिकॉर्ड है जो कई माहिर गेंदबाज तक नहीं बना पाए। 2009 आईपीएल के दौरान, मुंबई इंडियंस के नायर, हरभजन और डुमिनी को लगातार गेंदों पर आउट कर हैट्रिक बनाई और डेक्कन चार्जर्स के लिए मैच जीत लिया। तब वे डेक्कन चार्जर्स के लिए खेलते थे। आज उस रिकॉर्ड के बारे में वे कहते हैं- ‘मैं विश्वास नहीं कर सकता कि एमआई के विरुद्ध हैट्रिक ली थी। मुझे तो ये भी याद नहीं है कि मैं तब कैसे गेंदबाजी करता था? उंगली में चोट लग गई थी और उसके बाद मैं गेंद को ठीक से ग्रिप नहीं कर पाया और धीरे-धीरे गेंदबाजी से दूर हो गया।’

ओरिजनल हिटमैन

मई, 2020 में रोहित शर्मा को देश के प्रतिष्ठित राजीव गांधी खेल रत्न अवार्ड के लिए नामांकित किया गया- भारत में सर्वोच्च खेल सम्मान। ये सम्मान पाने वाले सिर्फ चौथे क्रिकेटर थे। 2019 के लिए आईसीसी ने ओडीआई क्रिकेटर ऑफ द ईयर नॉमिनेट किया। सबसे बड़ी बात ये कि क्रिकेट प्रेमियों ने उनके छक्के देखकर ‘हिटमैन’ का टाइटल दिया। आज भले ही वे पहले की तरह 6 नहीं लगाते, पर ओरिजनल हिटमैन वे ही हैं।

बोरीवली की गलियों में खेलते हुए कभी नहीं सोचा था कि एक दिन इंटरनेशनल क्रिकेट खेलेंगे। आज रिकॉर्ड सफलता की कहानी है- 233 वनडे मैचों में 48.58 की औसत से 9376 रन जिसमें 29 शतक, 45 टेस्ट में 46.13 औसत से 3137 रन और 148 टी20 में 31.32 औसत से 3853 रन। विराट कोहली के साथ, वह निश्चित तौर पर वर्तमान पीढ़ी के सर्वश्रेष्ठ भारतीय बल्लेबाज हैं।

पहली पेमेंट

क्रिकेट खेले तो पैसा आया पर अपनी पहली पेमेंट वे भूलते नहीं। पहली कमाई कोई सैलरी नहीं, 50 रुपये की नकद रकम थी जो अपनी सोसायटी के पास एक मैच खेलने के दौरान मिली थी। इसका क्या किया? यादगार के तौर पर नोट संभाले नहीं- थोड़ी ही देर में दोस्तों के साथ सड़क किनारे वड़ा पाव खाने में उड़ा दिए थे।

गर्ल फ्रेंड और पत्नी

गर्ल फ्रेंड के नाम पर सिर्फ एक जिक्र आता है और मजे की बात ये कि अब उस नाम को वे कतई याद नहीं रखना चाहते। वह उन्हें शर्मिदा करने वाला किस्सा बन गया। उनकी प्रेमिका सोफिया हयात थीं और रोहित शर्मा को गलत वजहों से खबरों में ला दिया।

2012 में रितिका सजदेह से शादी से तीन साल पहले, रोहित का नाम विवादास्पद टेलीविजन हस्ती सोफिया हयात के साथ जुड़ा था, बिना देरी रोहित और सोफिया की तस्वीरें वायरल होने लगी थीं। सोफिया ने ये फैला भी दिया कि दिग्गज बल्लेबाज को डेट कर रही हैं। ये वही सोफिया हैं जिन्होंने ईडन गार्डन में श्रीलंका के विरुद्ध रोहित शर्मा के शानदार दोहरे शतक की खुशी में, 2014 में एक कामुक फोटो शूट से अपनी सभी नग्न तस्वीरें जारी करने का ऐलान कर दिया।

और भी मजेदार बात ये है कि उस समय खबर ये थी कि रोहित और सोफिया के ब्रेकअप के लिए विराट कोहली जिम्मेदार थे। अब भी, विराट कोहली और अनुष्का शर्मा के साथ बिना कुछ बोले, टकराव की ख़बरें कुछ महीने पहले खूब चर्चा में रही थीं।

रितिका से वे कैसे मिले? एक कमर्शियल शूट के दौरान रितिका से मिले थे। तब वे युवराज सिंह के साथ शूटिंग कर रहे थे और अपने मैनेजर के न आने से रोहित का मूड खराब था। रितिका तब युवी की टीम में थीं और मदद की। उसके एक साल बाद फिर से मिले और रिपोर्ट ये थी कि युवराज (जो रितिका को अपनी बहन मानते हैं) ने रोहित को उससे दूर रहने की धमकी दी थी। आखिरकार, दोनों दोस्त बन गए, और रोहित ने रितिका को अपना मैनेजर बना दिया। आखिर में शादी कर ली।

गजब का साथ है दोनों का। 2017 में श्रीलंका के विरुद्ध रोहित ने अपना तीसरा वनडे दोहरा शतक पूरा किया तो मैच देख रही रितिका सजदेह ने खड़े होकर ताली तो बजाई, लेकिन कैमरे ने उनके आंसुओं को भी दिखा दिया। आंखों में आंसू- ऐसा क्यों? इतने बड़े रिकॉर्ड पर तो खुश होना चाहिए था। अब अटकलें शुरू हो गईं। हाल ही में मयंक अग्रवाल के साथ बातचीत में, रोहित शर्मा ने खुद वजह का खुलासा किया- ‘पहले तो मुझे नहीं पता था कि वह रो रही है। जब मैं ग्राउंड से आया तो मैंने पूछा कि तुम रो क्यों रही हो? तो बताया कि जब मैंने अपने 196वें रन के लिए डाइव लगाई तो उसे लगा मैंने अपना हाथ मरोड़ दिया है और इस पर वह चिंता में पड़ गई और भावुक हो गई।’

नेट वर्थ किसी से कम नहीं

रोहित शर्मा की नेट वर्थ का आंकलन 182 करोड़ रुपये का है और क्रिकेट के अलावा भी इसके लिए पैसा आया। एक साधारण मुंबई परिवार से आने वाले रोहित ने अपने जीवन में समय, पैसा और प्रतिभा को महत्व दिया पर नेट वर्थ को नजरअंदाज नहीं कर सकते।

अब मुंबई के वर्ली में एक आलीशान 4BHK अपार्टमेंट में रहते हैं, जिसकी कीमत 30 करोड़ रुपये है। 2015 में ये घर खरीदा था- रितिका सजदेह से सगाई के आस-पास। इसके अलावा, देश भर में कई रियल एस्टेट संपत्तियों के भी मालिक हैं।

लग्जरी कारों के शौकीन रोहित के गैरेज में कई कार हैं जिनमें हाल ही में खरीदी 3.15 करोड़ रुपये की लेम्बोर्गिनी यूरस, एक मर्सिडीज-बेंज जीएलएस 350 डी (कीमत 88.18 लाख रुपये), एक बीएमडब्ल्यू एक्स3 (कीमत 56.50 लाख रुपये) और एक 62.48 लाख रुपये की टोयोटा फॉर्च्यूनर के साथ-साथ एक सुपर बाइक Suzuki Hayabusa (कीमत 15 लाख रुपये) भी है।
नेट वर्थ में आईपीएल की हिस्सेदारी सब जानते हैं। मुंबई इंडियंस का आईपीएल 2022 कॉन्ट्रैक्ट में 16 करोड़ रुपये का था। आज तक आईपीएल से 162.60 करोड़ रुपये कमाए हैं और इससे ज्यादा आईपीएल पैसा सिर्फ एमएस धोनी ने कमाया है।

कई ब्रैंड को एंडोर्स करते हैं और इस मामले में देश के सबसे महंगे स्टार में से एक हैं। जिन ब्रैंड को एंडोर्स करते हैं उनमें हब्लोट, एडिडास, शार्प, स्पोर्ट्स किंगडम, प्रोटार, ट्रूसॉक्स, न्यू एरा, रेलिस्प्रे, रसना, ड्रीम 11, अरिस्टोक्रेट, हाईलैंडर, एएमएफआई और सीईएटी शामिल हैं।

क्रिक किंगडम उनके लिए एक ख़ास नाम है- ये उनकी क्रिकेट एकेडमी है बीकेसी, मुंबई में। इसमें चार श्रेणियों में कोचिंग देते हैं- 5-8 साल, 8-13 साल, 13 साल और उससे बड़े तथा क्लब और एलीट स्तर के क्रिकेटर। ये एकेडमी भारत से बाहर भी एक्टिव है।

इसी शान शौकत ने उन्हें स्टाइलिश भी बनाया और हैरानी की बात तो ये 2018 में उन्हें GQ Style Award मिला। मुंबई में ताज लैंड्स एंड में आयोजित इन अवार्ड्स में इस स्टार क्रिकेटर ने कई बॉलीवुड हस्तियों , ख़ास तौर पर अक्षय कुमार, आलिया भट्ट, शाहिद कपूर और राहुल खन्ना जैसे फैशन मेवेरिक्स के साथ अपना जलवा दिखाया और काले सूट और काले जूतों में उनकी स्टाइल सबसे अलग थी। उन्हें स्पोर्टिंग एलिगेंस के लिए अवार्ड मिला।

कुछ और मजेदार बातें उनके बारे में

  • रोहित शर्मा की जर्सी के नंबर “45” के पीछे भी एक कहानी है। ये कोई अंधविश्वास का मामला नहीं- इस जर्सी नंबर का अपनी मां को क्रेडिट देते हैं वे- ‘मेरी मां को ये नंबर पसंद है। बहुत सारे नंबर मेंने उन्हें बताए और पूछा कि मुझे कौन सा नंबर लेना चाहिए तो उन्होंने कहा कि 45 अच्छा नंबर होगा।’
  • रोहित ने अपना पहला टी20 फिफ्टी 2007 के टी20 वर्ल्ड कप में मेजबान दक्षिण अफ्रीका के विरुद्ध लगाया था। एक राज की बात ये है कि ये स्कोर दिनेश कार्तिक से मांगे बैट से बनाया था।
  • अपनी एक आदत से वे छुटकारा पाना चाहते हैं…। कौन सी- भूलने की। अक्सर अपना पासपोर्ट, पर्स, आईपैड भूल जाते हैं।
  • अंधविश्वास से इंकार नहीं करते तभी तो अगर एक मैच में अच्छा प्रदर्शन किया तो उसी ड्रैस को धोने के बाद पूरी सीरीज में पहनते रहते हैं।
  • टेलेंट है पर मजे की बात ये कि जिस एक शब्द से वे नफरत करते हैं वह टेलेंट ही है। ऐसा क्यों- ‘लोग मेरे लिए इसका बहुत इस्तेमाल करते हैं, लेकिन मुझे यह बिल्कुल पसंद नहीं। आमतौर पर इसका मतलब है कि आप प्रतिभाशाली हैं और इसके लिए काम/मेहनत करने की जरूरत नहीं।
  • अलार्म की आवाज पसंद नहीं- सोना पसंद है।
  • एक मिथक जिसे वे खत्म करना चाहेंगे- वह हमेशा एक बल्लेबाज थे जबकि सच तो यह है कि वे गेंदबाज हुआ करते थे और इत्तेफाक से बल्लेबाज बन गए।
  • मुंबई के बारे में सबसे ज्यादा पसंद है यहां का स्ट्रीट फूड! इसकी लत सी लग गई है और अभी भी अपने दोस्तों के साथ सेव पूरी और पानी पूरी खाते हैं।
  • जीवन का टर्निंग पॉइंट उनकी नजर में- जब चाचा ने उनके समर कैंप की फीस दी क्योंकि उस समय उनका परिवार इसे नहीं दे सकता था। इसमें अलग-अलग स्कूलों के स्टूडेंट ले रहे थे और यहीं कोच लाड ने उन्हें देखा और स्कूल बदलवा दिया।

Leave a comment

Cancel reply