83
रणवीर सिंह की 83 फिल्म 100 करोड़ के क्लब के करीब, फिल्म बनाने में रही कई मुश्किल चुनौतियां

भारतीय (India) क्रिकेट इतिहास में एक से एक यादगार लम्हे हुए हैं। इनमें से, जब भी भारत के सबसे बेहतरीन और कभी ना भूलने वाले पल की बात होगी तो वो है साल 1983 में भारतीय क्रिकेट टीम के द्वारा विश्व कप (World Cup 1983) जीतना। चैंपियन कप्तान कपिल देव (Kapil Dev) की अगुवाई में उस दौर की सबसे खतरनाक टीमों में से एक वेस्टइंडीज (West Indies) को फाइनल मैच में मात देकर भारत ने 1983 का विश्व कप खिताब जीतकर दुनियाभर को चौंका दिया।

इसके बाद तो भारतीय क्रिकेट की तस्वीर ही बदल गई। 1983 के विश्व कप जीतने के लम्हे को उस दौर के लोगों ने तो जीया था, लेकिन इसके बाद जन्म लेने वाले करोड़ों भारतीय फैंस को 1983 के विश्व कप में भारत के जीतने की बात तो जरूर पता है, लेकिन वो इसे अनुभव नहीं कर सकते।

इसी अहसास में डूब जाने का काम किया है हाल ही में रिलीज हिंदी फिल्म 83 ने, जिसने भारतीय टीम के उस विश्व कप जीतने की कहानी को उकेरा है और आज हर किसी के सामने फिल्म के माध्यम से उस खुशनुमा पल का अहसास दिलाया है।

भारत के महान और विश्व कप विजेता कप्तान कपिल देव और भारत की उस 1983 के विश्व कप की यादों को लेकर भारतीय फिल्म जगत के सबसे बड़े निर्देशकों में से एक कबीर खान के निर्देशन में 83 नाम की मूवी पिछले ही महीने रिलीज हुई। इस फिल्म को लेकर दर्शकों को बेसब्री से इंतजार था, जो अपने दो हफ्ते पूरे करने जा रही है। इस फिल्म में एक से एक स्टार कास्ट ने काम किया है, जिसमें 1983 के विश्व कप के हर पल को जिया है।

बॉलीवुड के मौजूदा समय के सबसे चर्चित एक्टर में से एक रणवीर सिंह और एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण ने इस फिल्म में लीड रोल निभाया है, जिसमें रणवीर सिंह ने कपिल देव की भूमिका अदा की है, तो वहीं उनकी रियल वाइफ दीपिका पादुकोण ने रोमी देव के रूप में रील वाइफ का रोल निभाया है। रणवीर सिंह की इस फिल्म को लेकर दर्शकों को बहुत ही आस थी। वैसे फिल्म ने अब तक बॉक्स ऑफिस में वो कमाल नहीं दिखाया है, जैसी उम्मीद की जा रही थी, लेकिन अपने 12 दिन के सफर में ये फिल्म 100 करोड़ के बिल्कुल करीब खड़ी हुई है।

फिल्म में रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण के अलावा भी कई स्टार कास्ट ने काम किया है, जिनमें उस टीम के चैंपियन खिलाड़ियों के रोल में कई कास्ट ने अपना अभिनय किया है।

इस फिल्म की स्टोरी एक तरह से कपिल देव के इर्द-गिर्द घूमती नजर आती है, जिसका रोल स्टार कास्ट रणवीर सिंह ने निभाया. रिपोर्ट्स की मानें तो रणवीर सिंह को इसके लिए 20 करोड़ रुपये फीस के रूप में दिए गए। ना केवल रणवीर सिंह को बल्कि 83 मूवी के लिए भारत की 1983 के विश्व कप की चैंपियन टीम या कपिल देव एंड कंपनी को अपना अनुभव साझा करने के लिए 15 करोड़ रुपये चुकाए गए, जिसमें रिपोर्ट्स की मानें तो सबसे ज्यादा 5 करोड़ रुपये कपिल देव को दिए गए। पूर्व कप्तान के अलावा बाकी किसी भी खिलाड़ी को अलग-अलग कितना पैसा दिया गया, इसकी कोई जानकारी नहीं है।

फिल्म 83 की बात करें तो इसमें भारत की 1983 की जीत के साथ ही उनकी पर्सनल लाइफ को लेकर भी कहानी दिखायी गई है। इसके अलावा ताहिर भसीन ने सुनील गावस्‍कर का, साकिब सलीम ने मोहिन्‍दर अमरनाथ का, चिराग पाटिल ने संदीप पाटिल का किरदार निभाया है। इसके अलावा भी बाकी खिलाड़ी को लेकर भी कई कास्ट ने अपना अभिनय किया।

फिल्म की कहानी की बात करें तो इसमें रणवीर सिंह ने जो विनिंग ट्रॉफी उठाने का सीन दिया है, वो भारत के द्वारा जीती हुई असली ट्रॉफी थी। फिल्म में एक से एक रोचक और मजेदार सीन भी हैं, जिसमें कुछ पर तो आप भावुक हो जाएंगे, तो कुछ ऐसे सीन्स भी हैं, जिसे देखने के बाद आपक रोकने से भी हंसी को रोक नहीं पाएंगे।

83 फिल्म ने अपने सफर में कई चुनौतियों को पार करते हुए आखिरकार पिछले साल 24 दिसंबर को सिनेमाघरों में एन्ट्री की। इस फिल्म ने अब तक अपने 12 दिन में 94.28 करोड़ रुपये की कमाई कर ली है, जो 100 करोड़ के क्लब में शामिल होने से कुछ ही दूर है।

लेकिन बात जब फिल्म को बनाने की करें तो इसमें काफी मुश्किल चुनौतियों का भी सामना करना पड़ा। जिसे लेकर फिल्म में कपिल देव के रूप में लीड रोल निभाने वाले रणवीर सिंह से लेकर फिल्म के डायरेक्टर कबीर खान ने भी अपने अनुभव साझा किए जिसमें उन्होंने फिल्म को बनाने को लेकर तमाम चुनौती की बात को सामने रखा तो साथ ही उन्होंने इस फिल्म के सफर को काफी आनंदमयी यात्रा भी करार दिया।

फिल्म में कई और भी कलाकारों ने काम किया जिसमें हार्डी संधू, अम्मी विर्क, पंकज त्रिपाठी, बोमन ईरानी और कई अन्य सहित कई कलाकार हैं। इन तमाम अभिनेताओं को इस फिल्म में जोड़ने और उन्हें असेंबल कराने का समय आया तो निर्देशक कबीर खान को कई तरह की चुनौती मिला। लेकिन इन चुनौतियों को पार करते हुए उन्होंने एक ऐसी फिल्म पेश की जिससे 1983 के विश्व कप जीतने की यादें ताजा हो गई।

कबीर खान ने इस फिल्म को लेकर दिए एक इंटरव्यू में कहा था, “83 की पूरी कास्ट को असेंबल करते समय हमें बहुत सारी चुनौतियों का सामना करना पड़ा, लेकिन मैं कहूंगा कि दूसरी ओर, ये एक बहुत ही आनंदमयी यात्रा थी। एक फिल्म निर्माता के रूप में, मेरे लिए यह यात्रा है, जो रिलीज से ज्यादा मायने रखती है, इसलिए 83 मेरे लिए बेहद फायदेमंद रहा है, और मैं फिल्म से बेहद खुश हूं, क्योंकि 83 देश की सामूहिक स्मृति को दर्शाता है और मैंने हर संभव प्रयास किया ताकि यह सब एक साथ आए। मैंने जो फिल्म बनाई है, उस पर मुझे वास्तव में गर्व है।”

इस फिल्म को लेकर रणवीर सिंह ने भी कई इंटरव्यू दिए, जिसमें उन्होंने साफ कहा है कि उनके और उनकी टीम के लिए इस फिल्म को अभिनय करना इतना आसान नहीं था, लेकिन इन तमाम मुश्किलों के बाद भी उन्होंने एक बेहतर फिल्म सामने रखी है।

Leave a comment

Cancel reply