Babar Azam

गाले इंटरनेशनल स्टेडियम में श्रीलंका के विरुद्ध पहले टेस्ट में पाकिस्तान के लिए नतीजा चाहे जो रहे, पाकिस्तानी बल्लेबाज और कप्तान बाबर आजम ने अपनी बेहतर फॉर्म और हर रिकॉर्ड को बदलने के टैलेंट का एक और सबूत दिया। ख़ास तौर पर विराट कोहली से उनकी तुलना तो अब हर रोज की चर्चा है पर इस टेस्ट में विराट कोहली को पीछे छोड़कर, तीनों तरह की इंटरनेशनल क्रिकेट में कुल 10000 रन को पार करने के लिए, पारी के मामले में वे सबसे तेज एशियाई बल्लेबाज बन गए। इस तरह बाबर ने, विराट कोहली का एक और रिकॉर्ड तोड़ दिया।

बाबर आजम ने 10000 रन पूरे किए 228 पारी में, जबकि विराट कोहली ने रिकॉर्ड बनाया था 232 पारियों में। आज के दौर में जबकि क्रिकेटर तीनों तरह की क्रिकेट खेल रहे हैं तो इन सभी में कुल मिलाकर रिकॉर्ड का महत्व भी बढ़ता जा रहा है। इसके अलावा, बाबर इंटरनेशनल क्रिकेट में 10000 रन तक पहुंचने वाले सबसे तेज पाकिस्तानी बल्लेबाज भी हैं और इसके लिए जावेद मियांदाद के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया। मियांदाद ने इस रिकॉर्ड तक पहुंचने के लिए 248 पारियां ली थीं। पाकिस्तान के कुल 11 बल्लेबाज 10000 इंटरनेशनल रन बनाने में कामयाब रहे और इनमें अन्य ख़ास नाम सईद अनवर (255), मोहम्मद यूसुफ (261) और इंजमाम उल हक (281) के हैं।

बाबर आजम की इस रिकॉर्ड के लिए तेजी की तुलना सिर्फ विराट कोहली या अन्य दूसरे पाकिस्तान बल्लेबाजों तक सीमित नहीं रहेगी- वह कुल मिलाकर 10000 इंटरनेशनल रन बनाने वाले पांचवें सबसे तेज खिलाड़ी हैं। इस लिस्ट में टॉप पर वेस्टइंडीज के दिग्गज विवियन रिचर्ड्स हैं, जो सिर्फ 206 पारियों में 10000 रन तक पहुंचे। उनके बाद हाशिम अमला (217), ब्रायन लारा (220) और जो रूट (222) तेज हैं बाबर आजम (228) से।

एशियाई बल्लेबाजों में उनके सबसे तेज होने की बात करें तो बाबर और कोहली के बाद सुनील गावस्कर, जावेद मियांदाद और सौरव गांगुली का नंबर है- इन तीनों ने क्रमशः 243, 248 और 253 पारियों में ये रिकॉर्ड रन योग दर्ज किया था। अगर कुल रन योग की बात करें तो 17 जुलाई के इंग्लैंड-भारत वन डे इंटरनेशनल तक विराट कोहली 23726 रन पर हैं- इस रिकॉर्ड की लिस्ट में सातवें नंबर पर, जिन 6 बल्लेबाज का नाम विराट कोहली से ऊपर है, उनमें से कोई भी इस समय खेल नहीं रहा यानि कि विराट कोहली इस समय खेल रहे क्रिकेटरों में भी टॉप पर हैं। रन योग के मामले में विराट कोहली से बहुत पीछे हैं बाबर, पर ये मानना होगा कि कोहली के बराबर कहां खेले हैं वे और ये तुलना गलत होगी। बाबर अगर लगातार खेले और इसी फार्म को बरकरार रखा तो वे अपने 10098 रन (टेस्ट की पहली पारी तक) के रिकॉर्ड को नई ऊंचाई तक ले जाने का दम रखते हैं।

इस टेस्ट के दौरान बाबर ने एक और बड़ा ख़ास रिकॉर्ड बनाया- बाबर उस टेस्ट पारी में सेंचुरी बनाने वाले सिर्फ 8वें बल्लेबाज हैं जहां टीम का कोई भी साथी बल्लेबाज 20 रन की गिनती तक भी नहीं पहुंचा। ये रिकॉर्ड बनाने वाले: चार्ल्स बैनरमैन (1877), हर्बी टेलर (1913), ग्राहम यालोप (1979), कपिल देव (1992), सचिन तेंदुलकर (1996), डेरिल कलिनन (1998), ग्राहम थोरपे (2004) और अब बाबर आजम (2022) में।

गाले में बाबर आजम ने पाकिस्तान की पहली पारी के कुल (119/218) का 54.58% स्कोर बनाया। किसी भी टेस्ट पारी में पाकिस्तान के किसी कप्तान का यह अब तक का सबसे बड़ा योगदान है। पिछला रिकॉर्ड : 1987 में लॉर्ड्स में हनीफ मोहम्मद (187*/354) विरुद्ध इंग्लैंड 52.82 प्रतिशत।

वैसे इंटरनेशनल क्रिकेट में 10000 रन के रिकॉर्ड के संदर्भ में एक बड़ी ख़ास बात ये है कि अब तक जिन बल्लेबाज के नाम पर ये रिकॉर्ड है, उनमें से मौजूदा रिकॉर्ड तक, सिर्फ दो की बल्लेबाजी की औसत 50 है और ये दोनों और कोई नहीं- विराट कोहली (53.55) और बाबर आजम (51.25) हैं।

Leave a comment

Cancel reply