8 सर्वश्रेष्ठ ओपनिंग जोड़ियां, जो टी20 विश्वकप 2022 में हो सकती हैं सबसे ज्यादा कामयाब

टी20 विश्वकप (T20 World Cup) का आठवां संस्करण 16 अक्टूबर से 13 नवंबर तक ऑस्ट्रेलिया की धरती पर खेला जाएगा। इस मेगा इवेंट के शुरू होने में अब महज चंद दिन बाकी हैं। ऐसे में इसमें भाग ले रही सभी टीमें अपनी तैयारियों को अंतिम रूप देने के लिए द्विपक्षीय सीरीज खेल रही हैं।

ऑस्ट्रेलियाई टीम तीन मुकाबलों की टी20 आई सीरीज खेलने भारत दौरे पर आई हुई है, जबकि इसके बाद दक्षिण अफ्रीका की टीम भी 20 ओवर प्रारूप की श्रृंखला खेलने यहां आएगी। इसके अलावा इंग्लिश टीम 7 मैचों की टी20 आई सीरीज खेलने पाकिस्तान गई हुई है। मंगलवार को दोनों देशों के बीच सीरीज का दूसरा मैच खेला गया, जिसमें पाकिस्तानी कप्तान बाबर आजम (Babar Azam) और सलामी बल्लेबाज मोहम्मद रिजवान (Mohammad Rizwan) ने 203 रनों की बेहतरीन ओपनिंग साझेदारी की। आगामी टी20 विश्वकप को देखते हुए दोनों का फॉर्म में लौटना पाकिस्तान के लिए अच्छी खबर है। मगर अन्य टीमों के पास भी बेहतरीन ओपनिंग जोड़ी है, जो विपक्षी टीम के गेंदबाजों की नाक में दम कर सकते हैं।

आज हम आपको बताएंगे कि टी20 विश्वकप 2022 के सुपर 12 चरण में पहुंच चुकी आठों टीमों में से सबसे मजबूत ओपनिंग जोड़ी किस टीम की हैं। तो आइये नजर डालते हैं टी20 विश्वकप 2022 की ओपनिंग जोड़ियों पर –

8) बांग्लादेश –

बांग्लादेश के लिए आगामी टी20 विश्वकप में लिटन दास और मेहदी हसन पारी की शुरुआत कर सकते हैं। मेहदी ने एशिया कप 2022 में भी बांग्लादेश के लिए ओपनिंग की थी। वहां उन्होंने औसत प्रदर्शन दिखाया था। हालांकि, लिटन एशिया कप की स्क्वाड का हिस्सा नहीं थे। ऐसे में दोनों को तालमेल बैठाने में थोड़ा समय लग सकता है। टी20 आई में आंकड़ों की बात करें तो मेहदी हसन ने 14 मुकाबलों में 132 रन बनाए हैं, जबकि लिटन के बल्ले से 54 मैचों में 6 अर्धशतकों की मदद से 1081 रन निकले हैं।

7) अफगानिस्तान –

अफगानिस्तान के लिए हजरतुल्लाह जजाई और रहमानुल्लाह गुरबाज़ ओपनिंग जोड़ी की भूमिका निभा सकते हैं। दोनों ने अफगानिस्तान को कई बार मजबूत शुरुआत दिलाई है और उनकी टीम को टी20 विश्वकप 2022 में भी उनसे एक बार फिर यही उम्मीद होगी। 24 साल के हजरतुल्लाह ने अब तक 33 टी20 आई खेले हैं, जिनमें उन्होंने 32.03 की औसत से 961 रन बनाए हैं। रहमानुल्लाह गुरबाज़ के आंकड़ों की बात करें तो उन्होंने 32 टी20 इंटरनेशनल मुकाबलों में 828 रन बनाए हैं। इस दौरान उन्होंने 5 अर्धशतक भी जड़े हैं।

6) दक्षिण अफ्रीका –

हमारी लिस्ट की अगली सलामी जोड़ी टेम्बा बावुमा और क्विंटन डी कॉक की है, जिन्होंने साथ मिलकर कई विश्वस्तरीय गेंदबाजों को परेशान किया है। प्रोटियास टीम एक भी बार टी20 विश्वकप का ख़िताब नहीं जीत पाई है। ऐसे में अगर उन्हें इस बार वर्ल्ड चैंपियन बनना है, तो उनकी ओपनिंग जोड़ी को अच्छा प्रदर्शन दिखाना होगा। क्विंटन ने 20 ओवर फॉर्मेट के अबतक 69 इंटरनेशनल मैच खेले हैं। इनमें उन्होंने 31 की औसत से 1894 रन बनाए हैं। वहीं बावुमा ने 25 मुकाबलों में 26.8 के एवरेज से 562 रन बनाए हैं।

5) इंग्लैंड –

इंग्लैंड की टीम के लिए पारी की शुरुआत एलेक्स हेल्स और जोश बटलर करेंगे। दोनों बल्लेबाज अपनी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के लिए जाने जाते हैं। ऐसे में इंग्लिश टीम इनके ऊपर काफी निर्भर होगी। दोनों को टी20 आई प्रारूप का काफी अनुभव है। एलेक्स ने 61 मैचों में एक शतक और 9 अर्धशतकों की मदद से 1697 रन बनाए हैं। वहीं, बटलर ने 94 मुकाबलों में 2227 बनाए हैं। इस दौरान उनके बल्ले से एक शतक और 15 अर्धशतक निकले हैं।

4) न्यूजीलैंड –

ब्लैककैप्स के लिए डेवोन कॉनवे और मार्टिन गप्टिल सलामी बल्लेबाजों की भूमिका निभाएंगे। दोनों ने मिलकर कई बार अपनी टीम को धमाकेदार शुरुआत दिलाई है। ऐसे में इस बार भी ये दोनों स्टार बल्लेबाज टी20 विश्वकप के रोमांच में तड़का लगाते दिखाई देंगे। आंकड़ों की बात करें तो गप्टिल ने 121 टी20 आई में 31.8 की औसत और 135.8 की स्ट्राइक रेट से 3497 रन बनाए हैं, जबकि कॉनवे ने 23 मुकाबलों में 47.2 की बेहतरीन औसत से 708 रन बनाए हैं।

3) भारत –

टी20 विश्वकप 2022 में भारतीय टीम के लिए पारी की शुरुआत कप्तान रोहित शर्मा और उपकप्तान केएल राहुल करेंगे। दोनों की जोड़ी ने नीली जर्सी वाली टीम को कई बार मजबूत शुरुआत दिलाई है। टीम इंडिया को आगामी टी20 विश्वकप को जीतने का प्रबल दावेदार माना जा रहा है और अगर भारत को यह ख़िताब जीतना है तो इन दोनों को जमकर रन बनाने होंगे। रोहित शर्मा के पास टी20 का लंबा अनुभव है। उन्होंने 137 मैचों में 4 शतकों और 28 अर्धशतकों की मदद से 3631 रन बनाए हैं। वहीं, राहुल ने 62 मुकाबलों में 2018 रन बनाए हैं।

2) ऑस्ट्रेलिया –

ऑस्ट्रेलियाई टीम टी20 विश्वकप 2022 की डिफेंडिंग चैंपियन है। उन्होंने पिछले साल फाइनल में न्यूजीलैंड को हराकर यह ख़िताब जीता था। इस बार यह मेगा इवेंट ऑस्ट्रलिया में आयोजित हो रहा है। ऐसे में पीली जर्सी वाली टीम के पास एक बार फिर टी20 प्रारूप का वर्ल्ड चैंपियन बनने का अच्छा मौका है। कंगारू टीम के लिए पारी की शुरुआत डेविड वॉर्नर और एरोन फिंच की जोड़ी करेगी। दोनों ही बल्लेबाज अपनी पावर हिटिंग के लिए प्रसिद्ध हैं। प्रदर्शन की बात करें तो वॉर्नर ने 91 टी20 आई में 33.5 की औसत से 2684 रन बनाए हैं। एरोन फिंच के टी20 आई आंकड़ों पर नजर डालें तो 93 मुकाबलों में 35.1 के एवरेज से 2877 रन बनाए हैं। इसके अलावा उन्होंने 2 शतक और 17 अर्धशतक भी लगाए हैं।

1) पाकिस्तान –

पाकिस्तानी टीम टी20 विश्वकप जीतने की हॉट फेवरेट है और इसकी मुख्य वजह उसके सलामी बल्लेबाज बाबर आज़म और मोहम्मद रिजवान हैं। दोनों ने हरी जर्सी वाली टीम की पारी की शुरुआत करते हुए कई ऐतहासिक साझेदारियां की हैं। बाबर और रिजवान के बीच पांच बार पहले विकेट के लिए 150 रनों की साझेदारी हुई है। यह आंकड़े किसी भी विपक्षी टीम को भयभीत कर सकते हैं। टी20 करियर की बात करें तो बाबर ने 81 मुकाबलों में 42.2 की एवरेज से 2785 रन बनाए हैं और रिजवान ने 63 मैचों में 51.6 की बेहतरीन औसत से 2011 रन बनाने हैं।

Q. पहला टी20 वर्ल्डकप किसने जीता था?

A. भारत

Leave a comment

Cancel reply