Mohammed Shami
उन्होंने प्रोटियाज टीम के खिलाफ पहले टेस्ट में 8 विकेट हासिल किए.

भारतीय क्रिकेट (India) में पिछले कुछ साल में एक से एक बेहतरीन तेज गेंदबाजों को देखा गया। टीम इंडिया में, जिन युवा तेज गेंदबाजों ने एन्ट्री की है, उनमें काबिलियत की कोई कमी नहीं है। भारत के इन युवा तेज गेंजबाजों के बीच भारतीय टीम के अनुभवी तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) का नाम प्रमुख रूप से लिया जाता है। मोहम्मद शमी वनडे और टी20 क्रिकेट में भले ही खेलते नजर आते हैं लेकिन टेस्ट फॉर्मेट में वो बहुत ही खास गेंदबाज बन चुके हैं।

मोहम्मद शमी ने पिछले ही दिनों अपने टेस्ट क्रिकेट करियर के 200 विकेट पूरे किए। शमी ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ ये उपलब्धि हासिल की, जिसके साथ ही वो भारत के लिए सबसे तेज 200 विकेट लेने वाले तीसरे तेज गेंदबाज बन गए।

शमी ने अब तक 55 टेस्ट मैचों में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व किया है, जिसमें वो कमाल की गेंदबाजी करने में कामयाब रहे हैं। आज आपको हम यहां बताते हैं 5 कारण, जिससे मोहम्मद शमी को माना जाता है टेस्ट का घातक गेंदबाज…

  1. नई और पुरानी दोनों गेंद से गेंदबाजी करने में माहिर

विश्व क्रिकेट में गेंदबाजों की फेहरिस्त पर नजर डाले तो कुछ गेंदबाजों को नई गेंद पर खतरनाक माना जाता है, तो कई गेंदबाज ऐसे हैं जो पुरानी गेंद से अपनी महारथ दिखाने की क्षमता रखते हैं। तो वहीं अगर बात करें मोहम्मद शमी की तो वो नई हो या पुरानी, दोनों ही गेंदों से कमाल की गेंदबाजी करने की काबिलियत रखते हैं। अब तक के अपने टेस्ट करियर में मोहम्मद शमी ने नई और पुरानी दोनों ही गेंदों से प्रभाव छोड़ा है। इससे स्पष्ट होता है कि उनके लिए कप्तान नई और पुरानी दोनों ही गेंदों पर आसानी से गेंद थमा सकता है।

  1. अनुभव के कारण दबाव की स्थिति में निपटने की क्षमता

भारतीय क्रिकेट टीम के अनुभवी तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी के मौजूदा टीम के बहुत ही खास खिलाड़ी बन चुके हैं। मोहम्मद शमी ने साल 2013 में अपने डेब्यू के बाद से कमाल की गेंदबाजी की है। शमी ने वैसे तो वनडे और टी20 फॉर्मेट में भी कमाल किया है, लेकिन टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने अपने अनुभव से हर तरह की स्थिति से निपटने की क्षमता दिखायी है। शमी में अनुभव की कोई कमी नहीं है ऐसे में उन्होंने हर तरह की दबाव की स्थिति अपने अनुभव से बड़ी आसानी से निपटा है। ये उनकी सफलता का एक खास कारण हैं।

  1. लाइन-लैंथ पर है जबरदस्त नियंत्रण

किसी भी गेंदबाज की सफलता में सबसे बड़ा कारण उसकी लाइन लैंथ होती है। एक गेंदबाज अपनी लाइन-लैंथ से बड़े से बड़े बल्लेबाज को चकमा देने की क्षमता रखता है। ऐसा ही कुछ भारतीय टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने अब तक के अपने करियर में दिखाया है। मोहम्मद शमी का लाइन-लैंथ पर ऐसा नियंत्रण है कि ऐसा बहुत कम देखा गया है, जब उन्हें टेस्ट क्रिकेट में मुश्किलों का सामना करना पड़ा हो। ऐसे में इतना तो कहा जा सकता है कि मोहम्मद शमी की सफलता में उनकी गेंदबाजी की लाइन-लैंथ के नियंत्रण ही बहुत बड़ा कारण है।

  1. स्विंग और रिवर्स स्विंग की कला

एक तेज गेंदबाज के पास उसका सबसे बड़ा हथियार स्विंग गेंदबाजी को कहा जा सकता है। कुछ ऐसे गेंदबाज हैं जो जबरदस्त स्विंग करवाते हैं, तो कई ऐसे गेंदबाज भी हैं जिनको रिवर्स स्विंग में खास माना जाता है। लेकिन जहां तक बात करें मोहम्मद शमी की तो वो एक कमाल के स्विंग और रिवर्स स्विंग दोनों ही तरह के गेंदबाज हैं। नई गेंद के साथ मोहम्मद शमी स्विंग से बल्लेबाजों के लिए मुसीबत खड़ी करते हैं, तो रिवर्स स्विंग में भी उनका बहुत ही शानदार हाथ रहा है। ऐसे में वो दोनों ही तरह के गेंदबाजी करके सफलता हासिल कर रहे हैं।

  1. जरूरत के समय में विकेट दिलाने का माद्दा

एक कप्तान के लिए वो गेंदबाज सबसे खास होता है जो जरूरत के वक्त टीम को विकेट निकाल कर दें। ऐसे कई गेंदबाज हैं जो हर वक्त किसी भी परिस्थितियों में टीम के लिए विकेट निकालते हैं ऐसे गेंदबाजों की बात करें तो भारत के मोहम्मद शमी भी किसी से कम नहीं हैं। मोहम्मद शमी के पास किसी भी वक्त विकेट निकालने की अभूतपूर्व क्षमता है। वो भारतीय टीम के लिए टेस्ट क्रिकेट में जरूरत के वक्त कई बार देखा गया है कि विकेट निकालकर दिया हो। ऐसे में शमी को ये क्षमता भी एक घातक गेंदबाज बनाती है।

Leave a comment

Cancel reply