मैच के बाद भुवि ने इस बात से पर्दा उठाया कि दीपक को उनसे पहले क्यों बल्लेबाजी के लिए भेजा गया था।

टीम इंडिया के तेज गेंदबाज दीपक चाहर ने मंगलवार को श्रीलंका के विरुद्ध दूसरे एकदिवसीय मुकाबले में मैच विनिंग पारी खेली। चाहर ने 69* रनों की नाबाद अर्धशतकीय पारी खेलते हुए टीम को जीत की दहलीज तक पहुंचाया। उन्होंने भुवनेश्‍वर कुमार के साथ मिलकर 8वें विकेट पर 84* रनों की नाबाद शानदार साझेदारी निभाई और भारत को तीन विकेट से जीत दिलाई। मैच के बाद भुवि ने इस बात से पर्दा उठाया कि दीपक को उनसे पहले क्यों बल्लेबाजी के लिए भेजा गया था।

भुवनेश्वर कुमार ने दूसरे वनडे के बाद कहा, “दीपक चाहर ने हमारे हेड कोच राहुल द्रविड़ के साथ पहले भी काम किया है। भारत ए और अन्‍य कुछ सीरीज में चाहर ने द्रविड़ के सामने बल्‍ले से योगदान दिया था, इसलिए द्रविड़ को पता था कि चाहर बल्‍लेबाजी कर सकते हैं और वे कुछ गेंदों पर अच्छे शॉट भी लगा सकते हैं।”

31 साल के दाएं हाथ के गेंदबाज ने आगे कहा, “यह द्रविड़ का फैसला था कि चाहर पहले बल्‍लेबाजी करने जाए और आगरा के क्रिकेटर ने इसे एकदम सही साबित किया। हम सभी को पता था कि वे बल्‍लेबाजी कर सकते हैं और उन्होंने पहले भी कई बार ऐसा किया है। यह मुश्किल फैसला नहीं था, लेकिन उसे रन बनाते देखकर अच्‍छा लगा।”

भुवि ने दीपक चाहर की तारीफ करते हुए कहा, “दीपक चाहर में बहुत क्षमता है, जैसा कि उन्‍होंने दूसरे वनडे मैच में करके दिखाया। मुझे विश्‍वास है कि अगर उन्‍होंने ऐसा प्रदर्शन जारी रखा तो भारत के पास जल्‍द ही एक और तेज गेंदबाज ऑलराउंडर होगा। चाहर को ऑलराउंडर कहना जल्‍दबाजी लग सकता है, लेकिन उनमें, जो क्षमता है और, जिस तरह वे अभ्‍यास कर रहे हैं, उन्‍होंने ऐसी योग्‍यता दिखाई है। मुझे विश्‍वास है कि अगर उन्होंने खेलना जारी रखा तो भारत के पास शानदार गेंदबाज होगा, जो निचले क्रम पर बल्‍लेबाजी कर सकेगा।”

बता दें कि भुवनेश्‍वर कुमार ने इस मुकाबले में 19* रनों की नाबाद पारी खेली, जो बेहद महत्‍वपूर्ण थी। इस जीत के साथ भारत ने तीन मुकाबलों की एकदिवसीय सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त बना ली है। अब सीरीज का तीसरा और आखिरी मैच शुक्रवार को खेला जाएगा।

Leave a comment