रणजी के सेमीफाइनल में बंगाल के खेल मंत्री ने जड़ा मध्य प्रदेश के खिलाफ शतक

मध्यप्रदेश और बंगाल के बीच रणजी ट्रॉफी के सेमीफाइनल मुकाबले में बंगाल के खेल मंत्री मनोज तिवारी ने अपनी टीम के लिए बेहद ही जरूरी पारी खेली है। मनोज ने अपनी इस इनिंग में 12 चौकों की मदद से 102 रन बनाए। 36 साल के इस खिलाड़ी ने ये शतकीय पारी ऐसे समय में खेली जब उनकी टीम बंगाल बुरी तरह से बिखर रही थी।

बंगाल का स्कोर एक वक़्त पर 54-5 था, ऐसे में दाएं हाथ के इस बल्लेबाज़ ने ऑलराउंडर शाहबाज़ अहमद के साथ मिलकर टीम की पारी को संभाला। इन दोनों खिलाड़ियों ने 183 रन की बड़ी साझेदारी कर बंगाल को फॉलो ऑन के खतरे से बाहर निकाला।

तिवारी की ये पारी इसलिए भी ज्यादा खास है, क्योंकि इस पारी की शुरुआत में ही वो चोटिल हो गए थे, लेकिन चोटिल होने के बावजूद उन्होंने क्रीज पर रह कर अपनी टीम की हार टालने का काम किया। अपना शतक पूरा करने के बाद मनोज ने अनोखे अंदाज़ में अपने परिवार को धन्यवाद भी कहा, उन्होंने 100 रन पूरे होते ही हवा में एक पर्ची लहराई, जिस पर उनकी पत्नी सुष्मिता और उनके बच्चों के नाम के साथ दिल बना हुआ था।

बंगाल की तरफ से मनोज तिवारी ने 102 और शाहबाज़ अहमद ने 116 रन की पारी खेली। इन दोनों के अलावा अभिमन्यु ईश्वरन ही बंगाल की टीम के महज़ तीसरे खिलाड़ी थे, जो दहाई का आंकड़ा छू पाए।

आपको बता दें मनोज ने इससे पहले झारखण्ड के खिलाफ क्वार्टरफाइनल मुकाबले में भी दो बेहतरीन पारियां खेली थी। उनके बल्ले से पहली इनिंग में 73 तो दूसरी इनिंग में 136 रनों की शानदार शतकीय पारी निकली थी।

Leave a comment

Cancel reply