आखिरकार पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) के कई सालों के अथक प्रयासों के बाद पाकिस्तान में दस साल बाद टेस्ट क्रिकेट पुनर्जीवित हो गया. याद हो कि 2009 में लाहौर में गद्दाफी स्टेडियम के बाहर श्रीलंकाई टीम की बसों के काफिले पर आतंकवादी हमले में आठ लोग मारे गए थे और सात खिलाड़ी तथा अधिकारी घायल हो गए थे, जिसके दस साल बाद अब श्रीलंकाई टीम फिर से पाकिस्तान में टेस्ट सीरीज खेल रही है. इस आतंकवादी हमले के बाद क्रिकेट खेलने वाले हर देश ने पाकिस्तान में खेलने से इंकार कर दिया था. फिलहाल, श्रीलंका कड़ी सुरक्षा के बीच पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट सीरीज का पहला मुकाबला रावलपिंडी में खेल रही है.

वहीं, दूसरी तरफ पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व दिग्गज तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने पाकिस्तान में 10 साल बाद बहाल हुए टेस्ट क्रिकेट का स्वागत किया है. पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच दो मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मुकाबला रावलपिंडी में खेला जा रहा है.

रावलपिंडी एक्सप्रेस ने ट्वीट करते हुए लिखा, "पाकिस्तान में टेस्ट क्रिकेट लौटने का मैं स्वागत करता हूं. खासकर मेरे शहर रावलपिंडी में, जब आपके खिलाड़ी घर में खेलते हैं तो वे हीरो बन जाते हैं. यही चीज युवाओं को खेलों में आने के लिए प्रेरित करती है."

गौरतलब है कि पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने हाल ही में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (CA) को साल 2022 में टेस्ट सीरीज के लिए पाकिस्तान आने का न्योता दिया है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, ऑस्ट्रेलिया पाकिस्तान में टेस्ट सीरीज खेलने के लिए राजी भी हो गया है.

Leave a comment