भारतीय टेस्ट टीम के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे ने खुलासा किया कि पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ ने उनसे कहा था कि भारतीय टीम में चुने जाने के बारे में ज्यादा चिंता न करो.

भारतीय टेस्ट टीम के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे ने खुलासा किया कि पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ ने उनसे कहा था कि भारतीय टीम में चुने जाने के बारे में ज्यादा चिंता न करो, क्योंकि अगर वे अच्छा प्रदर्शन करते रहेंगे तो वे अपने आप टीम में आ जाएंगे। रहाणे ने साल 2007 में प्रथम श्रेणी में डेब्यू किया था और इसके बाद उन्होंने भारत के लिए चार साल बाद अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय मुकाबला खेला था। उनके घरेलू क्रिकेट में शानदार आंकड़े हैं। उन्होंने मुंबई की तरफ से अपने दूसरे रणजी ट्रॉफी सीजन में 1089 रन बनाए थे।

33 साल के दाएं हाथ के बल्लेबाज ने ईएसपीएन क्रिकइन्फो से बातचीत करते हुए कहा, “मुझे याद है कि साल 2008-09 में दिलीप ट्रॉफी फाइनल में हम दक्षिण क्षेत्र के विरुद्ध खेल रहे थे और इस दौरान राहुल द्रविड़ चेन्नई में खेल रहे थे। मैंने उस मैच में 165 और 98 रन बनाए थे। राहुल भाई ने मुझे मैच के बाद बुलाया और कहा था कि मैंने आपके बारे में बहुत पढ़ा है, आप अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। एक खिलाड़ी के रूप में यह बहुत स्वाभाविक है कि आप भारत के कॉल-अप की उम्मीद करना शुरू कर देते हैं। मैं आपको बस इतना ही कहूंगा कि जैसा आप खेल रहे हैं वैसा ही खेलते रहें।”

अजिंक्य रहाणे ने आगे कहा, “आप अपने खेल पर ध्यान केंद्रित करते रहें और भारत के लिए कॉल-अप खुद आ जाएगी। इसके पीछे मत भागो, यह आपका पीछा करेगा। राहुल भाई जैसे किसी व्यक्ति से उस सलाह को प्राप्त करने से मुझे वास्तव में बहुत प्रेरणा मिली। उनकी इस बात ने मुझे बहुत प्रेरित किया। उन्होंने बहुत सारे उतार-चढ़ाव देखें हैं। मैंने अगले सत्र में भी एक हजार रन बनाए और उसके दो साल बाद मुझे टीम में चुना गया।”

रहाणे भारत के लिए सिर्फ टेस्ट प्रारूप में खेलते हैं। वे फरवरी 2018 से भारत के लिए सीमित ओवर्स क्रिकेट नहीं खेले हैं। अजिंक्य रहाणे भारत की टेस्ट टीम के अहम खिलाड़ियों में से एक हैं। वे इस समय भारतीय टीम के साथ इंग्लैंड दौरे पर हैं। भारत और न्यूजीलैंड के बीच 18 जून से आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल मुकाबला रोज बाउल मैदान पर खेला जाएगा।

Leave a comment