कुछ ऐसे भी महानतम प्लेयर्स हैं, जिन्होंने इस उपलब्धि को हासिल करने के लिए कई बल्लेबाजों को पछाड़ा।

आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में नंबर 1 बनना किसी भी तरह से आसान नहीं है और यह बहुत खास भी हो जाता है, जब आप लंबे समय तक इस स्थान पर बने रहते हैं। कई ऐसे दिग्गज खिलाड़ी भी हुए हैं, जिन्हें आईसीसी रैंकिंग में शीर्ष पर पहुंचने का सौभाग्य नहीं मिला है। वहीं, कुछ ऐसे भी महानतम प्लेयर्स हैं, जिन्होंने इस उपलब्धि को हासिल करने के लिए कई बल्लेबाजों को पछाड़ा।

इस महत्वपूर्ण पद पर बने रहने के लिए बल्लेबाजों को कड़ी मेहनत करनी होती है और अपने खेल में निरंतरता दिखानी पड़ती है। भारतीय क्रिकेट के ऐसे ही 8 दिग्गज बल्लेबाजों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्होंने आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में नंबर 1 का स्थान हासिल किया है।

इन 8 भारतीय बल्लेबाजों ने आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में हासिल किया है नंबर 1 का स्थान –

  1. गुंडप्पा विश्वनाथ

भारतीय टीम के पूर्व बल्लेबाज गुंडप्पा विश्वनाथ का नाम भी इस सूची में शुमार है। विश्वनाथ हमेशा बल्ले से अपनी कलात्मकता के लिए जाने जाते थे। उन्होंने कई बार अपने बेहतरीन प्रदर्शन से टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई है। 72 साल के पूर्व क्रिकेटर ने अपने जबरदस्त परफॉरमेंस के चलते आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में पहला स्थान हासिल किया था। वे आईसीसी रैंकिंग में नंबर 1 का स्थान हासिल करने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज थे और साथ ही गुंडप्पा 1975 के दशक में सुनील गावस्कर के सुर्खियों में आने तक सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज थे। विश्वनाथ देश के लिए खेलने वाले बेहतरीन खिलाड़ियों में से एक थे। उन्होंने 91 टेस्ट मुकाबलों में 41.93 के औसत से 6080 रन बनाए।

  1. सुनील गावस्कर

सुनील गावस्कर आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में नंबर 1 बल्लेबाज बनने की उपलब्धि हासिल करने वाले भारत के दूसरे क्रिकेटर हैं। गावस्कर ने यह उपलब्धि साल 1979 में हासिल की थी। लिटिल मास्टर आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में नंबर 1 स्थान पर 916 के अंकों के साथ काबिज हुए थे। 72 साल के पूर्व दाएं हाथ के बल्लेबाज का नाम दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में गिना जाता है। गावस्कर ने वेस्ट इंडीज में लगातार शतकीय पारियां खेलीं थीं, जिसके कारण उन्हें आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में नंबर 1 का स्थान मिला था। गावस्कर ने 125 टेस्ट मुकाबले खेलते हुए 51.12 के औसत से 10122 रन बनाए।

  1. दिलीप वेंगसरकर

भारत की विश्व कप विजेता टीम के पूर्व बल्लेबाज दिलीप वेंगसरकर का नाम भी इस लिस्ट में शामिल है। उन्होंने टीम इंडिया को 1983 विश्व कप जिताने में अहम भूमिका निभाई थी। 1983 वर्ल्ड कप के बाद तो वेंगसरकर और भी खतरनाक बल्लेबाज बन गए थे और उन्होंने अगले चार सालों में ढेरों रन बनाते हुए साल 1988 में आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष स्थान हासिल किया था। 65 साल के पूर्व दाएं हाथ के बल्लेबाज ने 837 अंकों के साथ आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में नंबर 1 पर कब्जा जमाया था। उन्होंने लंबे समय तक भारतीय बल्लेबाजी क्रम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और भारतीय बल्लेबाजी को मजबूती प्रदान की। दिलीप वेंगसरकर ने 116 टेस्ट मैच खेलते हुए 42.13 के औसत से 6868 रब बनाए थे।

  1. सचिन तेंदुलकर

क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर का नाम भी इस सूची में शुमार है। मास्टर ब्लास्टर का नाम क्रिकेट जगत के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में गिना जाता है। उनके नाम अधिकांश बल्लेबाजी रिकॉर्ड हैं, जिसे आज भी कोई बल्लेबाज ध्वस्त करने में नाकाम रहे हैं। उन्होंने कई बार आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में नंबर एक स्थान पर कब्जा किया और इसका ताजातरीन मामला साल 2011 में था, जब वे अपने करियर के अंत के करीब पहुंच रहे थे। 48 साल के पूर्व दाएं हाथ के बल्लेबाज के नाम अब तक अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे अधिक शतक लगाने का रिकॉर्ड है और वे भारतीय बल्लेबाजी में एक दिग्गज रहे हैं। तेंदुलकर ने 200 टेस्ट मुकाबलों में 53.78 के औसत से 15921 रन बनाए हैं।

  1. राहुल द्रविड़

भारतीय टीम की ‘द वॉल’ के नाम से मशहूर राहुल द्रविड़ का नाम भी इस सूची में शामिल है। पूर्व कप्तान ने कई बार अपनी धैर्यपूर्वक बल्लेबाजी से टीम को जीत की दहलीज तक पहुंचाया है। राहुल द्रविड़ हमेशा टीम के लिए बेहतरीन प्रदर्शन करते थे, जब टीम को उनकी अधिक जरूरत होती थी। वे हमेशा टीम इंडिया को संकटमोचक की तरह परेशानी से निकालते थे। दाएं हाथ का यह खिलाड़ी कई बार आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में नंबर 1 के स्थान पर स्थापित हुआ है और उनके उच्चतम रेटिंग अंक 892 थे। द्रविड़ के नाम एक फील्डर के रूप में टेस्ट क्रिकेट में सबसे अधिक कैच लेने का रिकॉर्ड है। द्रविड़ ने टेस्ट क्रिकेट में 164 मैच खेलते हुए 52.31 के औसत और 42.51 के स्ट्राइक रेट से 13288 रन बनाए हैं।

  1. गौतम गंभीर

टीम इंडिया के पूर्व दिग्गज सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर भी इस सूची में शुमार हैं। गंभीर एक समय में टेस्ट क्रिकेट में भारत के सर्वश्रेष्ठ सलामी बल्लेबाजों में से एक थे। साथ ही उन्होंने वीरेंद्र सहवाग के साथ मिलकर भारत के लिए कुछ बेहतरीन ओपनिंग पार्टनरशिप की। टेस्ट प्रारूप में 39 साल के बाएं हाथ के पूर्व बल्लेबाज का सर्वश्रेष्ठ साल 2009 में था। इस साल उन्हें आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष का स्थान मिला था और इस दौरान उन्होंने लगातार शानदार पारियां खेलीं थीं। गंभीर ने 38 टेस्ट मुकाबलों में 41.95 के औसत और 51.49 के स्ट्राइक रेट से 4154 रन बनाए हैं।

  1. वीरेंद्र सहवाग

भारतीय टीम के पूर्व महानतम सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग का नाम भी इस लिस्ट में शामिल है। सहवाग क्रिकेट इतिहास में भारत की तरफ से ट्रिपल सेंचुरी लगाने वाले पहले बल्लेबाज थे और उन्होंने यह कारनामा दो बार किया है। उनका आक्रामक स्वभाव टेस्ट क्रिकेट में भी एक बड़ी विशेषता साबित हुआ और वे श्रीलंका के खिलाफ एक यादगार श्रृंखला के बाद साल 2010 में आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में नंबर 1 के स्थान पर काबिज हुए थे। इस दौरान 42 साल के दाएं हाथ के बल्लेबाज ने लगातार शतकीय पारियां खेलीं थीं। सहवाग के करियर का सर्वश्रेष्ठ रेटिंग अंक 866 का था। उन्होंने 104 टेस्ट मैच में 49.34 के औसत और 82.23 के स्ट्राइक रेट से 8586 रन बनाए हैं।

  1. विराट कोहली

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली का नाम भी इस सूची में शुमार है। किंग कोहली के नाम से मशहूर विराट वर्तमान युग के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक हैं और वे तीनों प्रारूपों में शानदार प्रदर्शन करते आ रहे हैं। 32 साल के दाएं हाथ के बल्लेबाज अपने लगातार बेहतरीन परफॉरमेंस के चलते पिछले साल आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में नंबर एक के स्थान पर पहुंचे थे, लेकिन जल्द ही उन्हें ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ ने रिप्लेस कर दिया था। कोहली ने 934 रेटिंग अंकों के साथ आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष का स्थान हासिल किया था और यह अंक किसी भी भारतीय बल्लेबाज द्वारा अब तक का सबसे अधिक था। रन मशीन ने अब तक 92 टेस्ट मुकाबलों में 52.04 के औसत और 56.85 के स्ट्राइक रेट से 7547 रन बनाए हैं।

Leave a comment