ऐसे 7 क्रिकेटर हैं जो आईपीएल करियर में 5 या इससे मैच खेले पर उनकी टीम को उनकी बैटिंग की कभी जरूरत ही नहीं पड़ी। ये कुछ अजीब बात लगती है पर सच है। विश्वास न हो तो देखिए :

लुंगी एंगिडी (चेन्नई सुपर किंग्स) : 30 अप्रैल 2018 से 1 नवंबर 2020 के बीच इस दाएं हाथ के फास्ट-मीडियम गेंदबाज़ ने 11 मैच खेले और किसी में भी बैटिंग नहीं की। इन 11 में से 7 मैच 2018 सीजन में और 4 मैच 2020 सीजन में खेले। वे अभी भी चेन्नई सुपर किंग्स की टीम में हैं और इसका मतलब ये है कि अब भी मैच खेलते हुए बैटिंग नहीं की तो इस मामले में मैच की गिनती का रिकॉर्ड और बढ़ता रहेगा।शायद टीम के लिए उनके 20 विकेट ज्यादा जरूरी रहे।

आनंद राजन (सनराइजर्स हैदराबाद): 14 मई 2011 से 19 मई 2013 के बीच इस दाएं हाथ के मीडियम पेस गेंदबाज़ ने 8 मैच खेले और किसी में भी बैटिंग नहीं की। ख़ास बात ये कि तीन सीजन खेले। टीम के लिए उनके 8 विकेट ज्यादा जरूरी रहे।  

अविष्कार सालवी (दिल्ली डेयरडेविल्स) : 19 अप्रैल 2009 से 15 मई 2011 के बीच इस दाएं हाथ के फास्ट-मीडियम गेंदबाज़ ने 7 मैच खेले और किसी में भी बैटिंग नहीं की। इन 7 में से 5  मैच 2009 सीजन में और 2 मैच 2011सीजन में खेले। टीम के लिए उनके 7 विकेट ज्यादा जरूरी रहे।  

पलानी अमरनाथ (चेन्नई सुपर किंग्स) : 19 अप्रैल 2008 से 10 मई 2008 के बीच इस दाएं हाथ के मीडियम पेस गेंदबाज़ ने 6 मैच खेले और किसी में भी बैटिंग नहीं की।वे सभी 6 मैच 2008 सीजन में खेले। टीम के लिए उनके 7 विकेट ज्यादा जरूरी रहे।  

जेसन बेहरेनडोर्फ (मुंबई इंडियंस) : 3 अप्रैल 2019 से 15 अप्रैल 2019 के बीच इस खब्बू फास्ट-मीडियम गेंदबाज़ ने 5 मैच खेले और किसी में भी बैटिंग नहीं की। वे इस बार भी नीलाम के पूल में थे पर बिके नहीं अन्यथा शायद ये रिकॉर्ड आगे बढ़ा देते। टीम के लिए उनके 5 विकेट ज्यादा जरूरी रहे।  

पवन सुयाल (मुंबई इंडियंस) : 5 मई 2013 से 17 अप्रैल 2015 के बीच इस खब्बू मीडियम पेस गेंदबाज़ ने 5 मैच खेले और किसी में भी बैटिंग नहीं की। ख़ास बात ये कि तीन सीजन खेले  और विकेट भी सिर्फ 2 लिए।

कुलवंत खेजरोलिया (रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर) : 5 अप्रैल 2018 से 4 मई 2019 के बीच इस खब्बू मीडियम फ़ास्ट गेंदबाज़ ने 5 मैच खेले और किसी में भी बैटिंग नहीं की। ख़ास बात ये कि दो सीजन खेले और विकेट भी सिर्फ 3 लिए।  

Leave a comment