कुछ ऐसे गेंदबाज हैं, जिन्होंने घर से बाहर टेस्ट मुकाबले खेलते हुए भारत के लिए शानदार प्रदर्शन किया है।

कोई भी गेंदबाज जब टेस्ट क्रिकेट में विदेशी पिच पर शानदार प्रदर्शन करते हुए विकेट हासिल करता है तो उसकी जमकर प्रशंसा होती है। किसी भी खिलाड़ी के लिए विदेशी पिच पर टेस्ट मुकाबला खेलना घर की पिच की तुलना में बहुत कठिन होता है। घर के बाहर टेस्ट मुकाबला खेलते हुए एक टीम वहां की परिस्थितियों और पिच से परिचित नहीं होती है। साथ ही विपक्षी टीम को घरेलू फायदा मिलता है और वे मुकाबलों के दौरान अपने अनुकूल पिच तैयार करती हैं।

ऐसे में मेहमान टीम के लिए गेंदबाजी करना मुश्किल हो जाता है। हालांकि, कुछ ऐसे गेंदबाज हैं, जिन्होंने घर से बाहर टेस्ट मुकाबले खेलते हुए भारत के लिए शानदार प्रदर्शन किया है। यहां हम, ऐसे 5 भारतीय गेंदबाजों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्होंने विदेशी पिच पर जबरदस्त प्रदर्शन किया है। इन 5 भारतीय गेंदबाजों ने घर के बाहर सबसे ज्यादा टेस्ट विकेट चटकाए हैं।

  1. हरभजन सिंह- 152

घर के बाहर सबसे ज्यादा टेस्ट विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाजों की सूची में हरभजन सिंह का नाम पांचवें स्थान पर है। भारतीय टीम के दिग्गज स्पिनर हरभजन सिंह ने अपनी बेहतरीन गेंदबाजी से अपने नाम कई क्रिकेट रिकॉर्ड दर्ज किए हैं। उन्होंने भारत के लिए टेस्ट प्रारूप में जबरदस्त प्रदर्शन किया है। भज्जी विदेशी पिच पर भी अपनी फिरकी से बेहतरीन प्रदर्शन करते थे। उन्होंने 87 टेस्ट पारियों में 38.90 के औसत से 152 विकेट चटकाए हैं।

40 साल के दाएं हाथ के ऑफ स्पिनर ने घर के बाहर सात बार पांच विकेट और एक बार 10 विकेट हासिल किया है। एक पारी में उनका सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी आंकड़ा 120 रन देकर 7 विकेट लेने का है, जबकि एक टेस्ट मुकाबले में उन्होंने 153 रन देते हुए 10 विकेट चटकाए थे। हरभजन सिंह ने कुल 103 टेस्ट मुकाबलों में 32.46 के औसत से 417 विकेट लिए हैं।

  1. इशांत शर्मा- 200

टीम इंडिया के धाकड़ तेज गेंदबाज इशांत शर्मा इस सूची में चौथे स्थान पर हैं। दाएं हाथ के भारतीय पेसर के आंकड़े विदेशी पिच पर शानदार हैं। उन्होंने 61 टेस्ट मुकाबलों की 107 पारियों में 32.81 के औसत से 200 विकेट हासिल किए हैं।

यह भी पढ़ें | 5 बल्लेबाज, जिन्होंने पिछले 5 सालों में टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक गेंदों का किया है सामना

32 साल के सीमर ने घर के बाहर गेंदबाजी करते हुए नौ बार पांच विकेट और एक बार दस विकेट लिया है। उनका एक पारी में सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी आंकड़ा 74 रन देकर 7 विकेट चटकाने का है। वहीं, इशांत ने एक टेस्ट मुकाबले में 108 रन देकर 10 विकेट भी हासिल किए हैं। इशांत शर्मा ने कुल अपने टेस्ट करियर में अब तक 102 मैच खेले हैं, जिसमें 304 विकेट चटकाए हैं।

  1. जहीर खान- 207

भारतीय टीम के पूर्व दिग्गज तेज गेंदबाज जहीर खान का नाम इस सूची में तीसरे स्थान पर है। पूर्व भारतीय पेसर के भारतीय पिच से ज्यादा बेहतरीन आंकड़े विदेशी पिच पर हैं। उन्होंने घर के बाहर जबरदस्त गेंदबाजी करते हुए 54 टेस्ट मुकाबलों की 95 पारियों में 31.47 के औसत से 207 विकेट चटकाए हैं।

बाएं हाथ के पूर्व सीमर ने इस दौरान 8 बार पांच विकेट और एक बार दस विकेट भी हासिल किया। जहीर खान ने एक पारी में 87 रन देकर 7 विकेट लिए थे, जो कि उनका सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी का आंकड़ा है। वहीं, उन्होंने एक टेस्ट मैच में 149 रन देते हुए 10 विकेट हासिल किए। पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज ने साल 2000 से साल 2014 तक भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट खेला, जिसमें उन्होंने 92 मुकाबलों में 311 विकेट लिए।

  1. कपिल देव- 215

1983 वर्ल्ड कप विजेता टीम के कप्तान कपिल देव भी इस सूची में शुमार हैं। पूर्व भारतीय ऑलराउंडर घर के बाहर सबसे ज्यादा टेस्ट विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाजों की लिस्ट में दूसरे स्थान पर हैं। उन्होंने विदेशी पिच पर शानदार गेंदबाजी करते हुए 66 टेस्ट मुकाबलों में 32.85 के औसत से 215 विकेट हासिल किए।

पूर्व दाएं हाथ के पेसर ने एक पारी के साथ-साथ एक टेस्ट मुकाबले में 85 रन खर्च करते हुए 8 विकेट चटकाए थे और यह उनका सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी का आंकड़ा है। वहीं, कपिल देव ने घर के बाहर गेंदबाजी करते हुए 12 बार पांच विकेट लिए हैं। पूर्व भारतीय कप्तान ने कुल भारत के लिए साल 1978 से 1994 तक टेस्ट क्रिकेट खेलते हुए 131 मुकाबलों में 29.34 के औसत से 434 विकेट चटकाए हैं।

  1. अनिल कुंबले- 269

भारतीय टीम के पूर्व महानतम लेग स्पिनर अनिल कुंबले घर के बाहर सबसे ज्यादा टेस्ट विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाजों की सूची में पहले स्थान पर हैं। उन्होंने विदेशी पिच पर बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए 69 टेस्ट मुकाबलों की 121 पारियों में 35.85 के औसत से 269 विकेट चटकाए हैं। इस दौरान दाएं हाथ के पूर्व स्पिनर ने 10 बार पांच विकेट और एक बार दस विकेट हासिल किया था।

कुंबले में एक पारी में 141 रन देते हुए 8 विकेट हासिल किए थे, जो कि उनका सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी का आंकड़ा है। उन्होंने एक टेस्ट मुकाबले में 279 रन देते हुए 12 विकेट चटकाए थे। अनिल कुंबले ने अपने कुल टेस्ट करियर में 132 मुकाबलों में 29.65 के औसत से 619 विकेट लिए। उन्होंने साल 1990 से 2008 तक टेस्ट में भारत का प्रतिनिधित्व किया।